10

भारत में न तो अगस्त ..न सितंबर बल्कि नवंबर महीने में कोरोना वैक्सीन मरीजों के लिए उपबलब्ध हो जाएगी। साथ ही इसकी कीमत भी काफी हैरान करने वाली है। महज 1 हजार रूपए में यह वैक्सीन मरीजों के लिए अस्पतालों में उपलब्ध होगी। यहां पर हम आपको बताते चले कि इस कोरोना वैक्सीन का ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में ह्यूमन ट्राइल काफी सफल रहा है।

जिसके बाद अब इसका उत्पादन शुरू कर दिया गया है। इस संदर्भ में अतरिक्त जानकारी देते हुए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के प्रमुख अदार पूनावाला ने बताया कि 200 मिलयन डॉलर के इस दवा को एक झटके में कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि इसे लेकर भारी भरकम कारोबार किया जा सकता है। मगर कंपनी का कहना है कि इसकी जरूरतों को देखते हुए इस पर काम किया जा रहा है।

उधर, कंपनी ने यह भी साफ कर दिया है कि अगले चरण में इसका जोखिम भी उठाना पड़ेगा। इसके साथ ही द लांसेट जर्नल में प्रकाशित परिणामों में कहा गया है कि कोरोना वैक्सीन के पहले चरण में इसकी अच्छी प्रतिक्रिया मिली है और न ही इसका कोई गंभीर साइडीइफेक्ट सामने आ रहा है। वहीं भारत के लोगों के लिए सीरम इंस्टीट्यूट में निर्मित कोविशिल्ड का स्टॉक तैयार किया जाएगा।

उधर, लगातार कोरोना वायरस के चलते चौपट होती देश की अर्थव्यवस्था पर विशेषज्ञों का साफ कहना है कि जब तक कोरोना वैक्सीन सभी देशों में उपलब्ध नहीं हो जाती है। जब तक इस वायरस का समुचित तोड़ नहीं निकल पाएगा और न  ही देश के अर्थव्यवस्था की गति को तेज किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here