6

कोरोना के खतरे को देखते हुए भीड़ एकत्र करने पर पूरी तरह से मनाही है। इस बीच स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) को होने वाले कार्य्रक्रम की तैयारी शुरू हो चुकी है लेकिन कोरोना को खतरे को देखते हुए इसमें कई बदलाव किये गए हैं और इस बार काफी लोग इस कार्यक्रम ही शामिल होंगे। 15 अगस्त लेकर ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इस वर्ष स्कूली बच्चों को कार्यक्रम में शामिल नहीं किया जाएगा। इसके आलावा कार्यक्रम में शामिल होने वाले मेहमानों संख्या भी काफी कम होगी।

सीटिंग अरेंजमेंट भी अलग- अलग होगी और पीपीई किट में पुलिस के जवान तैनात होंगे। राष्ट्रपति भवन में स्वतंत्रता दिवस के दिन दोपहर में होने वाले ऐट होम कार्यक्रम के लिए मेडिकल प्रोफेशनल और हेल्थ सेक्टर के मशूहर लोगों को निमंत्रण भेजा जाएगा। हर वर्ष करीब 1000 लोगों को स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में बुलाया जाता था लेकिन इस बार करीब 250 लोगों को ही बुलाया जायेगा। पीएम नरेंद्र मोदी के देश के नाम संबोधन के लिए मौजूद रहेंगे। वहीं मेहमानों की अंतिम सूची रक्षा मंत्रालय द्वारा तैयार की जाएगी। स्कूल के बच्चे इस बार 15 अगस्त के कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे सिर्फ एनसीसी कैडैट्स ही हिस्सा लेंगे।

इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया जाएगा। सैनिटाइज करने के लिए कई जगह बनाई जाएगीं। लाल किले को 1 अगस्त से आम लोगों के लिए बंद कर दिया जायेगा। स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम की तैयारियां शुरू हो गई लेकिन इस बार मजदूरों की कमी की वजह से अधिकारी परेशान है। आम तौर पर इस कार्यक्रम के लिए करीब दो हज़ार लेबर चाहिए होती है लेकिन इस बार तो एक हज़ार लेबर ही बड़ी मुश्किल से मिली है क्योंकि लॉक डाउन की वजह से काफी मजदूर अपने घर चले गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here