Tips :- होने वाला बच्चा स्वस्थ और तंदुरुस्त हो. इस दौरान खान-पान से लेकर लाइफ स्टाइल में भी काफी बदलाव करना पड़ता है. मां बनने वाली महिलाएं अगर इस चीज का इस्तेमाल कर लें तो उनकी सेहत भी बनी रहेगी और होने वाला बच्चा भी हेल्दी होगा.

गर्भावस्था में मां के खानपान का सीधा असर बच्चे की सेहत पर पड़ता है. कई देशों में बड़ी संख्या में बच्चों को अंडे और गेहूं जैसी चीजों से एलर्जी होना पाया गया है. ऐसे में प्रेग्नेंसी के दौरान मां को अपने खान-पान पर खास ध्यान लाभदायक हो सकता है.

बच्चों को खाने की जिन चीजों से एलर्जी होती है. मां के ऐसी चीजों के सेवन करने पर बच्चों के शरीर में दाने, सूजन या उल्टी जैसी समस्या हो जाती है. एलर्जी का कारण खाद्य पदार्थों का पेट में सही ढंग नहीं पचना होता है.

प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भवति महिलाओं को मछली के तेल का सेवन रोज करना चाहिए. डिलेवरी के कुछ दिनों पहले से मछली के तेल के सेवन से बच्चा स्वस्थ रहेगा, उसकी सेहत पर इसका अच्छा प्रभाव होगा. इसके साथ बच्चे के जन्म में मां को ज्यादा पीड़ा नहीं सहन करनी पड़ेगी.

लंदन के एक विश्वविद्यालय में हुए शोध की माने तो जो महिलाएं प्रेग्नेंसी के दौरान मछली के तेल का सेवन करती हैं उनके बच्चों को अंडे से एलर्जी होने की संभावना 30 प्रतिशत कम हो जाती है. असल में मछली के अंडे में ओमेगा-3 पाया जाता है. बच्चे के पाचन तंत्र पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

Note : हमने केवल सुझाव दिए हैं. कोई दवा या नुस्खा अपनाने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here