6

क्सपर्ट्स की माने तो गिलोय में विटामिन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह शरीर में कुछ बीमारियों को बढ़ने से रोकने में सहायक होता है। गिलोय कोरोना वायरस से इन्फेक्शन के बाद यह काफी फायदेमंद भी है। हालांकि डॉक्टर का कहना कि गिलोय भी अगर डॉक्टर की सलाह से ली जाए तो बेहतर होता है। उनका कहना है कि अगर आप खुद से इसका सेवन कर रहे हैं तो इसकी डोज गलत हो सकती है। गिलोय के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं जो आपको परेशानी में डाल सकते हैं।

कब्ज की शिकायत

गिलोय डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए अच्छा होता है लेकिन अगर अपने जरूरत अधिक डोज ले ली तो आपको कॉन्स्टिपेशन हो सकता है। गिलोय लेने के बाद अगर ऐसा कुछ महसूस हो रहा है तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें।

ब्लड शुगर लेवल गिर सकता है

वैसे तो डायबिटीज के मरीजों के लिए गिलोय बेहद फायदेमंद होता है। यह ब्लड शुगर लेवल भी को भी नियंत्रित करता है। गिलोय शुगर के मरीजों का ग्लूकोज लेवल को नीचे लाता है। अगर आप भी डायबिटीज की दवाओं के साथ गिलोय का सेवन करते हैं तो आपका शुगर लेवल ज्यादा गिर सकता है। ऐसे में आपको
बिना डॉक्टर की सलाह के गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए =।

ट्रिगर कर सकता है ऑटोइम्यून डिसीज

गिलोय प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत करने में अहम भूमिका निभाता है लेकिन अगर आप जरूरत से अधिक गिलोय का सेवन करते हैं तो आपका इम्यून सिस्टम ज्यादा उत्तेजित हो सकता है जो कि नुकसानदायक सबित होता है। वहीं अगर आपको गठिया या अन्य कोई ऑटोइम्यून डिसीज है तो गिलोय का सेवन बिल्कुल न करें।

प्रेग्नेंट महिलाओं को नहीं लेना चाहिए

एक्सपर्ट्स का मानना है कि गर्भवती और ब्रेस्ट-फीडिंग कराने वाली महिलाओं को गिलोय का सेवन नहीं करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here