10

योगी सरकार ने गाइडलाइन में सोशल मीडिया पर भ्रम फैलाने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने को कहा है। पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया है कि ईदी की कुर्बानी के दौरान गौहत्या न की जाए और छोटी से छोटी घटना को भी गंभीरता से लिया जाए। यूपी के डीजीपी द्वारा जारी किए गए पत्र में सांप्रदायिक भावनाओं का ध्यान रखने को कहा है। इस पत्र में सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया है कि ईदी की कुर्बानी के दौरान गौहत्या भी न की जाए।

इस मौके पर सभी नियमों का पालन हो सके और एक स्थान पर ज्यादा लोग जमा ना हों, इसके लिए ड्रोन का सहारा लिया जाएगा। पुलिस यूपी के कई इलाकों पर ड्रोन से पैनी नजर रखी जाएगी और ये सुनिश्चित करेगी की लोग इस त्योहार के वक्त दूरी बनाए रखें और नियमों का पालन करें। वहीं जो लोग नियमों को तोड़ते हुए पाए जाएंगे उनके खिलाफ पुलिस द्वारा सख्त कार्यवाही होगी। इस बार बकरीद का त्योहार एक अगस्त को मनाया जाएगा। मगर कोविड-19 की वजह से लोगों को ये त्योहार घर के अंदर ही मनाने को कहा गया है। सरकार की तरफ से इस दौरान मस्जिदों में जमा होने पर रोक लगाई गई है।

ज्ञात हो कि कोरोना की वजह से मंदिरों और मस्जिदों को बंद कर दिया गया था। अब इन्हें खोल दिया गया है, मगर इन स्थानों पर भीड़ जमा होने पर अभी भी प्रतिबंध है। सावन के पहले सोमवार के दौरान कई लोगों ने नियमों की अनदेखी की थी और मंदिर में जाकर पूजा भी की थी। जिसके बाद इन लोगों के खिलाफ कार्यवाही की गई थी और कई स्थानों पर भीड़ के चलते मंदिरों तक को बंद करना पड़ा था। वहीं बकरीद के दौरान लोग ये गलती बिलकुल ना करें, इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरह से सतर्क है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here