बज गई खतरे की घंटी! स्टडी रिपोर्ट से सामने आई बड़ी बात … कोरोना वायरस के महामारी पूरी दुनिया में फैल चुकी है ऐसे में सरकार हर कोशिश कर रही है कि कोरोना वायरस से कैसे लड़ा जाए ताकि हर व्यक्ति सुरक्षित रहे और कोरोना वायरस के चपेट में ना आए इसके लिए सरकार ने लॉकडाउन लागू किया था लॉकडाउन लगाने के बाद काफी फायदे है देखने को मिला था हर दिन जो आकड़ें सामने आ रहे हैं उन्हें देखकर सरकार की तो चिंता बढ़ी ही है लेकिन, आम नागरिक भी परेशान है. क्योंकि, लोगों के मन में कोरोना का डर इस तरह बैठ गया है कि, घरों से निकलना बंद कर चुके हैं. बीते 24 घंटों में देश में रिकॉर्डतोड़ आकंड़ें सामने आए हैं. जी हां, 11,458 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं. जबकि, 24 घंटों के भीतर 386 संक्रमित मरीजों की मौत हुई है इस तरह कुल मरने वालों की संख्या 8800 हो चुकी है.

जैसे यहां बहुत जल्द कोरोना बम फूटने वाला हो. क्योंकि, 24 घंटों के भीतर महाराष्ट्र में 3493 नए मरीज मिले हैं और इस तरह राज्य के मरीजों की संख्या 1 लाख के पार हो चुकी है. वहीं तमिलनाडु में 1982 नए मरीज और दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 2137 संक्रमित मरीज सामने आए हैं. यानि एक दिन में इन 3 राज्यों से 7612 नए कोविड-19 के मामले सामने आए हैं और अन्य हिस्से के मिलाकर 11,458 नए मामले

जिस वजह से हर दिन कोरोना के मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही हैं. भारत कोरोना मामले में दुनिया में चौथे नंबर पर पहुंच गया है। अब तक देश में 2.98 लाख केस सामने आ चुके हैं। वहीं, 8500 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी है। पंजाब स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, पंजाब में अगले 2 महीने में कोरोना महामारी चरम पर पहुँच जाएगी।

एक रिपोर्ट की मानें तो कोरोना के 15 डेंजर जोन देशों में भारत का नाम भी है. ये सभी वो देश हैं जहां लॉकडाउन में ढील देने के बाद ही कोरोना के मामले ज्यादा देखे गए हैं. जिस तरह से देश में मामले बढ़ रहे हैं उस स्थिति में अस्पतालों की भी कमी पड़ सकती है और मौतों का आकंड़ा बढ़ सकता है. इन्हीं सब स्थितियों को देखते हुए अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा फैसला लिया है.

मुख्यमंत्रियों से करेंगे बातचीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा फैसला लेते हुए अगले सप्ताह सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बातचीत करने का फैसला लिया है. माना जा रहा है कि, पीएम सभी मुख्यमंत्रियों से लॉकडाउन पर बात कर सकते हैं और सभी राज्यों की स्थितियों का जायजा ले सकते हैं. क्योंकि, इससे पहले भी पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 5 बार मुख्यमंत्रियों से बात कर चुके हैं. इस बार पीएम मोदी 16 और 17 जून को बात करेंगे. ध्यान देने वाली बात ये है कि, ऐसा पहली बार होगा जब पीएम दो दिन लगातार बैठक करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here