10

सोशल मीडिया पर सुर्ख़ियों में रहने वाले ‘बाबा का ढाबा’ के मालिक कांता प्रसाद (Kanta Prasad) ने सुसाइड करने की कोशिश की है। कांता प्रसाद ने पहले शराब पी और उसके बाद नींद की गोली खाकर आत्महत्या का प्रयास किया है। दिल्ली के मालवीय नगर (Malviya Nagar) में रहने वाले ‘बाबा का ढाबा’ के मालिक में गुरुवार रात लगभग 10 बजे शराब पीने के बाद कई नींद की गोलियां एक साथ खा लीं। कांता प्रसाद को परिवार वालों ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल भर्ती कराया है। जहां वो अब खतरे से बाहर हैं। कांता प्रसाद से पुलिस भी जल्द पूछताछ कर सकती है।

सोशल मीडिया पर बाबा का ढाबा (Baba ka Dhaba) के मालिक के नाम से मशहूर कांता प्रसाद कुछ दिन पहले ही दोबारा सुर्ख़ियों में आए हैं। जब उन्होंने दोबारा अपनी दुकान में ही काम शुरू कर दिया। इस दौरान यूट्यूबर गौरव वासन (Gaurav Vasan) कांता प्रसाद से मिलने भी पहुंचे थे और उन्होंने पुराने सभी गिले-शिकवे दूर किये। कोरोना काल 2020 में गौरव वासन ने ही बाबा का ढाबा का एक वीडियो बनाया था और लोगों से कांता प्रसाद की मदद की अपील की थी।

गौरव का वीडियो काफी वायरल हुआ था, जिसके बाद बड़ी संख्या में लोग ढाबे पहुंचने लगे और लोगों ने दिल खोलकर बाबा की मदद भी की। गौरव के वीडियो से जहां कांता प्रसाद को मदद और नाम मिला। वहीं उनके बैंक खाते में लाखों रुपए की मदद मिलने के बाद कांता ने गौरव पर ही रुपए के लेन-देन में गड़बड़ी करने का आरोप लगा दिया। कांता प्रसाद के आरोपों पर गौरव ने सफाई दी और कहा कि उन्होंने कोई भी गड़बड़ नहीं की है।

वहीं बाबा के इन आरोपों से लोग भी नाराज हुए और उन्होंने उनकी मदद करना और ढाबे जाना बंद कर दिया। समय के साथ हालात बदले और कांता प्रसाद वापस ढाबे पर आ गए। इस दौरान उन्होंने गौरव से माफ़ी भी मांगी थी, जिसके बाद गौरव उनसे मिलने भी पहुंचे। लॉकडाउन के दौरान कांता प्रसाद को काफी नुकसान पहुंचा है। बताया जा रहा है कि शायद यही वजह उन्होंने आत्महत्या की कोशिश की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here