9

जब गौरव नाम के एक यू-ट्यूबर ने इनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद की किस्मत अचानक से बदल गयी और अगले ही दिन ढाबे पर भीड़ जुटनी शुरू हो गयी.

यही नहीं बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद को देश विदेश से चंदा आना शुरू हो गया. जिसके यह मामला भलाई का न रह कर धोखादड़ी का बन गया, बाबा का ढाबा ने गौरव पर आरोप लगाया की उसने चंदे के रूप में मिले सारे पैसे मुझे नहीं दिए हैं. जो कांता प्रसाद एक दिन में अपनी सब्ज़ी भी पूरी नहीं बेच पाते थे उन्होंने पुलिस में एफआईआर करवाई, महंगा वकील खड़ा किया और गौरव के खिलाफ केस दर्ज़ करवा दिया.

दिल्ली पुलिस अब कांता प्रसाद और उसकी पत्नी के साथ-साथ गौरव और उसकी पत्नी के बैंक खतों की जांच कर रही हैं. जांच में पुलिस ने कांता प्रसाद के बैंक में आई राशि का ब्यौरा देते हुए कहा है की, वीडियो के वायरल होने के बाद कांता प्रसाद के बैंक में अभी तक 42 लाख रूपए की धनराशि जमा हुई हैं.

यही कारण हैं की अब बाबा का ढाबा बदल कर रेस्ट्रोरेंट हो चूका हैं. कांता प्रसाद ने मालवीय नगर में ही यह नया रेस्ट्रोरेंट खोला हैं और उन्होंने अपने निचे 2 लड़के भी काम पर रखे हैं. गौरव वासन आज भी कांता प्रसाद जैसे लोगों का वीडियो बनाकर उनके बारे में और उनके हालातों के बारे में जानकारी जरूर देते हैं लेकिन अब वह किसी के लिए फंड रेज नहीं करते.

गौरव वासन का कहना है की उन्होंने बाबा का ढाबा चलाने वाले कांता प्रसाद के इलावा कभी किसी के लिए फंड रेज नहीं किये. यह पहला मौका था जब कांता प्रसाद के आर्थिक हालात देखकर मुझे लगा की इनके लिए फंड रेज करने चाहिए. गौरव वासन अपनी बैंक की स्टेटमेंट्स लेकर मीडिया के सामने पेश भी हुए थे और सारा ब्यौरा भी दिया था. लेकिन केस अभी बंद नहीं हुआ देखना काफी दिलचस्प होगा की या केस आगे क्या मोड़ लेता हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here