बारिश के मौसम में मच्छर कर रहे है परेशान तो अपनाएं यह आसन घरेलू उपाय :- बारिश का मौसम सबको पसंद आता है परन्तु इस मौसम में जगह जगह पानी भर जाते है और बहुत से कीट पतंगे जन्म लेते है इनमें से मनुष्यों के लिए सबसे हानिकारक कीट मच्छर है इस मच्छर का काटना न केवल आपको डेंगू या मलेरिया का शिकार बना सकता है बल्कि एलर्जी और स्वास्थ्य की कई समस्याएं भी पैदा कर सकता है इन बीमारियों के इलाज में भारी भरकम खर्च आता है। हालांकि कुछ घरेलू उपायों को अपनाकर बीमारियों पर आने वाले खर्च से बचा सकता है।

8वीं 10वीं 12वीं पास के लिए इन पदों पर निकली है जबरदस्त भर्ती, प्रति महीना वेतन होगा 30000 से भी ज्यादा

बेरोजगारों के लिए विभिन्न पदों पर निकली है जबरदस्त भारती आज ही करें आवेदन

हम आपको मच्छरों से बचने के कुछ घरेलू उपायों के बारे में बता रहे हैं-

कपूर- एक कटोरे में थोड़ा सा पानी लेकर उसमें कपूर भिगो कर कमरे के कोने में रख दें। थोड़े ही समय में कपूर से उठने वाली गंध और धुआँ मच्छरों को दूर भागा सकता है। आप इसका कई दिनों तक मच्छरों को भगाने के लिए उपयोग कर सकते हैं, ऐसा करने के लिए आपको सिर्फ पानी ही बदलना होगा।

नीम का तेल- मच्छरों को नीम की गन्ध पसंद नहीं आती है अतः आप नीम के तेल को हाथ-पैरों में लगाएं फिर नारियल के तेल में नीम का तेल मिलाकर दिया जलाएं मच्छर आपसे दूर ही रहेंगे।

लैवेंडर- यह न सिर्फ खुशबूदार है बल्कि एक शानदार तरीका भी है मच्छरों से बचने का। इस फूल की खुशबू असरदार होती है जिससे मच्छर भाग जाते हैं। इस घरेलू उपाय के उपयोग के लिए लैवेंडर के तेल को एक कमरे में प्राकृतिक फ्रेशनर के रूप में छिड़कें।

नींबू और लौंग- सामान्य रूप से मच्छरों को खट्टे फल विशेष रूप से नींबू बिलकुल पसंद नहीं आते हैं। इसलिए इस विधि के अंतर्गत आप नींबू को दो टुकड़ों में काट लें और इसके गूदे में आप जितनी संभव हो सकें लौंग लगा लें। अब सभी नींबू को आप एक प्लेट में इस प्रकार रखें की लौंग वाली साइड ऊपर की ओर हो जाये। इसके बाद आप देखेंगी की सभी मच्छर इन नींबू और लौंग की खुशबू के कारण बहुत दूर चले जाएँगे।

नींबू और नीलगिरी का तेल- मच्छर भगाने वाली रिफिल में लिक्विड खत्म हो जाने पर उसमें नींबू का रस और नीलगिरी का तेल भरकर लगाएं। इसे हाथ-पैरों पर भी लगा सकते हैं।

सिट्रोनेला केंडल जलाएं- सिट्रोनेला एक के प्रकार की हर्ब है जिसकी गंध मच्छरों को पसंद नहीं आती है, इसलिए सिट्रोनेला केंडल को जलाने से वातावरण को बड़ी सरलता से मच्छर मुक्त किया जा सकता हैं।

सोते समय ये जरूर करें- सोते समय लहसुन की कच्ची कली चबाने से मच्छर नहीं काटते। इसके साथ ही लहसुन शरीर के रक्त संचार को भी बेहतर करता है।

पानी जमा न होने दें- सबसे अहम बात यह है कि अपने आसपास कहीं भी पानी जमा न होने दें। बारिश में कई जगह पानी इकट्ठा हो जाता है जिससे मच्छरों को पनपने का मौका मिलता है। कूलर आदि चीजों का पानी समय समय पर बदलते रहें ताकि मच्छर न बढ़े।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here