10

बिजली का बिल न चुकाने वालों में अधिकत्तर दो तरह के लोग शामिल है। एक वह गरीब किसान है जो समय से भुगतान करने में असमर्थ है तो दूसरी तरफ सरकारी विभाग हैं, जिन्हें पता है कि बकाया चाहे जितना हो जाए उनकी बिजली नहीं कटेगी। लेकिन इस बीच ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा का जो रुख दिख रहा है उससे यही लग रहा है कि बकायेदार अब बख्शे नहीं जाएंगे। उन्होंने स्पष्ट किया है कि बकाया वसूली के लिए विद्युत विभाग लोगों के घरों तक जाएंगे।

उन्होंने कहा कि राज्य में बिजली व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है। ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा आज नोएडा के सेक्टर-29 स्थित विद्युत उपकेंद्र में अचानक पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने वहां का औचक निरीक्षण किया। इसके बाद वह नोएडा के सेक्टर-28, 29, तथा 30 में गए और वहां रहने वाले लोगों बात करके हकीकत को परखा। इस दौरान उन्होंने बिजली की आपूर्ति और अधिकारियों के कार्यप्रणाली के बारे में भी लोगों से जानकारी ली।

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कुछ बकायेदारों से उनके घर जाकर बकाया बिल भी वसूल किया। साथ ही उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों से बकायेदारों की सूची तलब की, लेकिन अधिकारी सूची उपलब्ध कराने में असफल रहे। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को जमकर फटकार लगाते हुए कहा कि वे अपनी कार्यप्रणाली सुधार लें। बता दें बिजली का बिल बकाया होने के मामले में विभाग ही जिम्मेदार है। बढ़ाकर बिजली का बिल देना, समय से बिल न भेजना आदि समस्याएं हैं जिसे विभाग दूर करना नहीं चाहता। ऐसे में गलत बिजली का बिल सही कराने में लोगों को काफी चक्कर लगाने पड़ जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here