7

हर किसी का सपना का होता है आई एस, आई पीएस अफसर बनकर देश की सेवा करने का। आज हम 2017 की उत्तराखंड युपी एससी टापर नमामि बंसल के बारे में बताने जा रहे। जिन्होंने कड़ी मेहनत तथा लगन से अपने सपने को साकार किया। उनकी ये कहानी काफी लोगों के लिए प्रेरणा स्रोत है। लाजपत राय मार्ग ऋषिकेश निवासी नमामि बंसल के घर फोन की घंटी बजी कि आपकी बेटी आईएस परिक्षा में पास कर गई।

नमामि बंसल के गरीब परिवार से आती है। उनके पिता राज कुमार बंसल  बर्तन की दुकान चलाते थे। नमामि ने अपनी प्राथमिक स्तर से लेकर इंटर तक की शिक्षा एनडीएस गुमानीवाला से की है। उन्होंने दसवीं में 92.4 वा इंटर में 94.8 अकं हासिल कर स्कुल के साथ ही ऋषिकेश का नाम रोशन कराया। सबसे बड़ी बात उन्होंने नेट की परीक्षा में पास करने के लिए किसी तरह की कोचिंग नहीं की थी। फिर भी उन्होंने ये पास की।

उन्होंने सारी पढ़ाई इंटरनेट से ही की। वो दिल लगाकर पढ़ाई किया करती थी। बालिका शिक्षा के साथ ही पहाड़ो है। होने वाले पलायन को रोकने के लिए प्राथमिकता से काम करेगीं। नमामि की मां शरिता बंसल वा भाई विभु बंसल ने बताया कि यह हमारे लिए बहुत गर्व की बात है। उनकी मां कहती हैं जब वो फोन आया था।

वो हमारी जिंदगी का सबसे खुशी का दिन था। उनकी मां कहती हैं। उनकी बेटी काफी गुणी है वो काम के साथ साथ दिल लगाकर पढ़ाई भी करती थी। नमामि बंसल ने  बतौर आईएएस अधि कारी कैडर के लिए अपने गृह राज्य को ही चुना। और दुसरा विकल्प राजस्थान का।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here