11

दरभंगा के नजदीक एक गाँव के बासुकीनाथ की शादी पास के गाँव की लडकी के साथ में तय हुई थी और शादी बस होने की तैयारी चल ही रही थी कि तभी बीच में एक लडकी काजल उनके घर पर पहुँच जाती है और बासुकीनाथ के घर वालों को समझाती है कि वो दोनों ही एक दुसरे से प्यार करते है.

मगर बासुकीनाथ के घर वाले उसे घर से निकाल देते है और शादी की तैयारियों में लग जाते है. मगर तब काजल पुलिस स्टेशन जाती है और वहाँ पर जाकर के उनसे मदद मांगती है और पुलिस पहुँचती है तो फिर मामला लड़की के घर वालो तक भी पहुँच गया तो जिससे बासुकीनाथ की शादी होने जा रही थी वो भी टूट गयी और सलाह दी गयी कि अब इन दोनों की ही शादी आपस में करवा देनी चाहिए क्योंकि और कोई रास्ता बचा नही है.

बस इसी सोच के साथ में घर वाले भी मान गये और बासुकीनाथ की शादी उसकी प्रेमिका काजल के साथ में करवा दी गयी. काजल और बासुकीनाथ दोनों ही बंगाल में एक साथ में एक कम्पनी में काम करते थे और वही पर इन दोनों में प्यार हो गया था. बासुकीनाथ अपने घर वालो को प्यार के बारे में बताने की हिम्मत नही जुटा पाया इसलिए काजल खुद आ गयी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here