3

कुछ देशों और कंपनियों ने तो अगस्त से सितंबर माह तक वैक्सीन लॉन्च करने का दावा भी कर दिया है, लेकिन इस पूरे मामले पर विश्व स्वास्थ्य संगठन की राय अलग है। वैसे तो कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए तैयार की जा रही कई वैक्सीन अपने ट्रायल के आखिरी चरण में हैं और यह जल्द से जल्द बाजार में उतारी भी जा सकती हैं, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मानें तो किसी भी वैक्सीन के बाजार में उपलब्ध होने की उम्मीद साल 2021 के शुरूआती महीनों से पहले नहीं की जा सकती है।

बता दें कि डब्ल्यूएचओ के इमरजेंसी प्रोग्राम यानी आपातकाल कार्यक्रम प्रमुख माइक रेयॉन ने कहा, “हम इस बात की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि वैक्सीन के वितरण में किसी तरह की दिक्कत ना हो। ताकि कोरोना महामारी के संक्रमण जल्द से जल्द काबू पाया जा सके क्योंकि इस वायरस से संक्रमित नए मामले पूरी दुनिया से आ रहे हैं।

प्रक्रिया में लगेगा समय 

ऐसे में जरूरी है कि जो भी वैक्सीन सबसे पहले तैयार होती है, उसकी सही तरीके से उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए।” वैक्सीन को लेकर माइक ने बताया कि वैक्सीन बनाने की दिशा में हम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। अब तक तीन अलग-अलग वैक्सीन परीक्षण के तीसरे चरण तक पहुंच चुकी हैं। यह उत्साहजनक बात है कि इनमें से किसी भी वैक्सीन का मानव शरीर पर कोई बड़ा साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि बावजूद इसके हम अगले साल यानी 2021 के शुरुआती महीनों से पहले इस वैक्सीन के टीकाकरण की उम्मीद नहीं कर पा रहे हैं, क्योंकि सभी जरूरी प्रक्रियाओं के पूरा होने और सब तक इस वैक्सीन की पहुंच सुनिश्चित करने में इतना समय तो लग ही जाएगा।

2021 होगी उपलब्ध 

गौरतलब है कि पिछले दिनों रूस की सेचेनोव यूनिवर्सिटी ने जल्द से जल्द वैक्सीन लॉन्च करने का दावा किया था। रूस की यह वैक्सीन अंतिम चरण के ट्रायल में है। ब्रिटेन की वैक्सीन के भी दोनों चरणों के ह्यूमन ट्रायल के सकारात्मक नतीजे सामने आए हैं, उसका अभी अंतिम चरण का ट्रायल चल रहा है। चीन की दो वैक्सीन भी सफलता के करीब है। जबकि भारत में दो वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू हो चुका है। यह वैक्सीन अगर कारगर साबित होती है तो उम्मीद जताई ज रही है अगले साल यानी 2021 के शुरुआती महीनों तक यह लोगों को उपलब्ध करा दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here