7

बिजनेस अखबार मिंट के अनुसार यह प्रस्ताव गुरुवार को कर्मचारी राज्य बीमा निगम की मीटिंग में रखा गया था। ईएसआईसी श्रम मंत्रालय के तहत आने वाला एक संगठन है जो 21,000 रुपये तक के कर्मचारियों को ईएसआईसी योजना के तहत बीमा प्रदान कराती है। ईएसआईसी के बोर्ड की सदस्य अमरजीत कौर ने बताया, ‘इस कदम से ईएसआईसी के तहत बीमा योग्य व्यक्तियों को उनके तीन महीने तक उनकी सैलरी के 50 फीसदी तक रकम नकद मदद के रूप में दी जाएगी।’

ईएसआईसी अपने डेटा के अनुसार बेरोजगार कामगारों को यह काफी लाभ देगा, मगर इसके लिए कर्मचारी किसी ईएसआईसी ब्रांच में जाकर आवेदन कर सकते हैं और उचित वेरिफिकेशन के बाद उनके बैंक अकाउंट में सीधे रकम पहुंच जाएगी। इसके लिए आधार नंबर की आवश्यकता होगा।

ज्ञात हो कि सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के मुताबिक कोरोना संकट की के कारण लगभग 1.9 करोड़ लोगों की नौकरी जा चुकी है। आंकड़ों के अनुसार केवल जुलाई महीने में ही 50 लाख लोग बेरोजगार हुए हैं। हालांकि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के मुताबिक, जून महीने में 4.98 लाख लोग औपचारिक कार्यबल से भी जुड़े हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here