6

भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव पर दुनिया की नजरें हैं, भारत को जहां कई देशों का समर्थन मिल रहा है वहीं चीन को अब तक सिर्फ निराशा ही मिल रही है। जिसके बाद अब चीन के मुखपत्र अखबार ग्लोबल टाइम्स के भी सुर बदलने लगे हैं, अब तक भारत को युद्ध की धमकी देने वाले अख़बार ने अपनी एक रिपोर्ट में लिखा है कि नई दिल्ली को लेकर अब तक बीजिंग ने अपने रूख में कोई भी बदलाव नहीं किया है। ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि हम (चीन) भारत को दुश्मन की नजर से नहीं देखते हैं।

हमारी नीति में भारत को लेकर कोई बदलाव नहीं हुआ है। दोनों देशों के बीच के संबंधों को स्थिर और मजबूत करने लिए हम भारत से सहयोग करने के लिए तैयार हैं। पुरानी स्थिति दोबारा बहाल होने में थोड़ा समय जरूर लगेगा लेकिन दोनों देशों को एक दूसरे से बातचीत जारी रखनी चाहिए। सत्र शुरू होने से पहले मीडिया से बात करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना संक्रमण को लेकर कहा कि, जब तक दवाई नहींआती तब तक कोई ढिलाई नहीं।

हम चाहते हैं कि कोरोना की वैक्सीन दुनिया के किसी भी कोने से जल्द से जल्द विकसित करने में हमारे वैज्ञानिक सफल हों। जिससे हम सब इस समस्या से जल्द बाहर निकालने में सफल हों। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि सभी सदस्य (संसद) मिलकर संदेश देंगे कि पूरा देश जवानों के साथ खड़ा है। जो सीमा पर डटकर मातृभूमि की रक्षा कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here