10

वहीं कश्मीर में माहौल को ख़राब करने की पूरी साजिश रचने वाले पाकिस्तान को तुर्की अपने लड़ाकें (आतंकी) देगा, जो कश्मीर भेजे जाएंगे। इसका खुलासा ग्रीस के पत्रकार एंड्रीस माउंटजोरिलियास ने ने अपनी रिपोर्ट में किया है। इस्लामिक दुनिया में सऊदी के प्रभुत्व को तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप एर्दवान चुनौती देने की योजना पर काम कर रहे हैं, अब वो खुद इस्लामिक देशों का नेतृत्व करना चाहते हैं। तुर्की के राष्ट्रपति को ये ख्वाब पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने दिखाई है। यही वजह है कि, तुर्की किराए के लड़ाकों को कश्मीर भेजने की तैयारी कर रहा है।

पिछले काफी वक़्त से तुर्की पूर्वी भूमध्यसागर में ग्रीस-मिस्त्र-साइप्रस के विरुद्ध अपना सैन्य गठबंधन को और मजबूत कर रहा है। अब इस अभियान में वो पाकिस्तान की भी स्थायी मौजूदगी स्थापित करने के लिए मदद कर रहा है। काराबाख युद्ध के बाद अब तुर्की अपने सीरियाई लड़ाकों को कश्मीर में भेजकर भारत की परेशानी बढ़ाने की तैयारी कर चुका है। सामने आ रही मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सीरियाई सेना शामिल हुए गैंग सुलेमान शाह के प्रमुख अबू एस्मा ने कहा है कि, कश्मीर को तुर्की मजबूत होते देखना चाहता है।

कश्मीर में तुर्की से जो लड़ाके आएंगे उन्हें अबू एस्मा का गैंग दो हज़ार डॉलर देगा। अबू एस्मा अपने लड़ाकों से बताया है कि, कश्मीर थी वैसा ही पहाड़ी क्षेत्र है, जैसा नागोर्नो-काराबाख है। इस बात की भी खबर सामने आई हैं कि, अजरबैजान और आर्मीनिया के बीच चल रही जंग में तुर्की अपने भाड़े के लड़ाकों को
अजरबैजान की मदद के लिए भेजा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here