10

पुराने समय में लोग जमीन पर बैठकर खाना खाते थे लेकिन समय के साथ-साथ काफी चीजों में परिवर्तन होने लगा। इन्हीं में से एक था आपके भोजन करने का तरीका। वर्तमान समय में, लोग भोजन करने के लिए डाइनिंग टेबल का प्रयोग करते हैं। जिन घरों में डाइनिंग टेबल नहीं होता, वहां पर भी लोग बिस्तर पर बैठकर भोजन करना पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जमीन पर बैठकर भोजन करने से आपको अद्भुत स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होते हैं। तो चलिए जानते हैं इन्हीं लाभों के बारे में-

होता है योगाभ्यास
योगा का हर आसन आपके शरीर को किसी न किसी रूप में लाभ पहुंचाता है और जब आप जमीन पर बैठकर भोजन करते हैं तो आप वास्तव में किसी आसन जैसे सुखासन या सिद्धासन में बैठे होते हैं। इससे आपको भोजन के दौरान उस आसन से मिलने वाले लाभ भी प्राप्त होते हैं। साथ ही इससे भोजन के पाचन में भी सहायता मिलती है।

बढ़ता है शरीर का लचीलापन और स्ट्रेंथ

जब आप जमीन पर पैरों को क्रॉस करके बैठते हैं तो इससे आपका शरीर मजबूत व अधिक लचीला होता है। सिटिंग पोजिशन में आपके हिप्स, टखनों व घुटनों पर जोर पड़ता है। साथ ही आपकी रीढ़ की हड्डी, कंधों और छाती का लचीलापन भी बढ़ जाता है। ऐसा होने पर आप बहुत सी बीमारियों से खुद-ब-खुद बच जाते हैं।

रक्त प्रवाह में सुधार
बेहतर स्वास्थ्य के लिए यह बेहद आवश्यक है कि आपके शरीर में रक्त का प्रवाह बेहतर तरीके से हो। अपने शरीर में ब्लड सर्कुलेशन के लिए आपको जमीन पर बैठकर खाना खाने की आदत डालनी चाहिए। दरअसल, ऐसा करने से आपके हदय से शरीर के अन्य भागों तक रक्त का प्रवाह बेहतर हो जाता है। इसके अतिरिक्त जमीन पर बैठकर खाना खाने से आपका हृदय बेहतर तरीके से काम करता है और आप हृदय संबंधी परेशानियों से खुद को काफी हद तक बचा लेते हैं।

होता है पॉश्चर सही

यह तो आप जानते ही होंगे कि आपका गलत पॉश्चर आपकी बहुत सी परेशानियों का कारण बनता है लेकिन जब आप जमीन पर पैर क्रॉस करके बैठे होते हैं तो आपके शरीर का पॉश्चर एकदम सही होता है। जिसके कारण आपकी कमर, मसल्स और ज्वांइट्स पर अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ता। इस प्रकार आपको कमर में दर्द, घुटनों में दर्द या गर्दन में दर्द आदि शिकायत का सामना नहीं करना पड़ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here