मंदिर में पूजा पाठ का अपना ही विशेष महत्व है। मंदिर को बेहद ही पवित्र स्थान माना जाता है क्योंकि यहां पर देवता विराजित होते हैं। मंदिर में जाते ही एक अलग ही शान्ति का अनुभव होता है। मंदिर जाकर दर्शन करना और पूजा-पाठ करना आपको पुण्य लाभ प्रदान करता है साथ ही आपके हर संकट को दूर करता है। लेकिन कई बार लोग जाने-अनजाने में मंदिर में छोटी-छोटी गलतियां कर बैठते हैं। इन्ही गलतियों के कारण उन्हें पुण्य लाभ नहीं मिल पाता और ऊपर से उन्हें दोष भी लग जाता है। तो चलिए जानते हैं कि मंदिर में किन गलतियों से बचना चाहिए और किन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

विभिन्न पदों पर सीधे इंटरव्यू से निकली भर्तियाँ अप्लाई करने के लिए यहाँ क्लिक करे

इंटेलिजेंस ब्यूरो ( IB) में पहली बार बिना लिखित परीक्षा हो रही है भर्तियाँ 

सबसे पहले तो आप यह जान लें कि मंदिर में मानसिक रूप से शांति मिलती है, इसलिए यहां कभी जोर से न तो हंसना चाहिए और न मनोरंजन करना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको तो दोष लगता ही है और साथ ही दर्शन करने आए दूसरे लोगों को भी बाधा पहुंचती है। इसके अलावा दर्शन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि यदि कोई व्यक्ति दर्शन कर रहा हो तो उसके सामने से कभी नहीं गुजरना चाहिए।

अगर आप शिवजी के मंदिर जाते है तो शिवलिंग की आधी ही परिक्रमा करना चाहिए। मंदिर में कभी भी चमड़े की चीज़ को पहनकर भूल कर भी नहीं जाना चाहिए। बेल्ट और पर्स जैसी चीज़ों को मंदिर के बाहर ही रख कर दर्शन करना चाहिए। अगर आप इनके साथ मंदिर में प्रवेश करते हैं तो आप पाप के भागीदार बन जाते हैं। क्योंकि यह चीज़ें अशुभ मानी जाती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here