7

किसी की मौत (death) होने के बाद क्या होता है। यह सवाल अक्सर उठता रहता है, जिसे लेकर दो तर्क दिए जाते हैं। विज्ञान कहता है कि इंसान की मौत के सब खत्म हो जाता है। उस व्यक्ति का कोई अस्तित्व ही नहीं बचता है। वहीं धार्मिक मान्यताओं (religious beliefs) में कहा जाता है कि शरीर मरता है, आत्मा (soul) कभी नहीं मरती है। आत्मा तो सिर्फ शरीर बदलती है, जैसे शरीर कपड़े बदलता है। वहीं जब तक आत्मा कहीं और जन्म नहीं लेती हैं तब तक वो एक स्थान से दूसरे स्थान तक भ्रमण करती है। कहा जाता है कि अगर किसी व्यक्ति की मौत प्राकृतिक नहीं होती है। या मरने वाले की आत्मा को मोक्ष अगर किसी वजह से नहीं मिल पाता है। तो उसकी आत्मा धरती पर ही भटकती है। भगवद गीता (Bhagavad Gita) में बताया है कि आत्मा अमर हैं, मौत तो सिर्फ शरीर की ही होती है।

कुछ लोगों का सवाल होता है कि अगर उनके परिजन की मौत के बाद क्या आत्मा उनसे संपर्क करती है? अगर वो आत्मा से संपर्क करना चाहते है तो क्या यह संभव है कि वो उससे बात कर सकें? अक्सर ऐसा होता है कि जब किसी के बेहद करीबी की मौत हो जाती है तो उसे बात का एहसास होता है कि मृत परिजन उसके साथ ही है। माना जाता है कि आप से मृत परिजन जरूरत पड़ने पर संपर्क भी कर सकता है। वो आपको भविष्य में होने वाली अशुभ घटनाओं को लेकर संकेत भी देते हैं।

मृत परिजन ऐसे कर सकते हैं आप से संपर्क

  • अगर आप कहीं जा रहे हैं और आपको बार-बार एहसास हो कि कोई आपसे पीछे है लेकिन दिखे नहीं। तो समझ जाएं कि आप से मृत परिजन संपर्क करने का प्रयास कर रहा है।
  • अगर कमरे में रखा सामान गिर जाये या हिलने लगे तो समझ जाएं कि आपके साथ कमरे में मृत परिजन मौजूद है। जो आप से संपर्क करने की कोशिश कर रहा है।
  • सपने में भी मृत परिजन (soul immortal) दिखाई देता है। तो समझ जाएं कि वो भविष्य में होने की किसी अप्रिय घटना को लेकर आपको सतर्क करना चाहते हैं।
  • अगर आपको लगता है कि कोई आपके कानों में कुछ कहना चाहता है। आपको कोई बुला रहा है लेकिन दिख नहीं रहा है तो समझ लें कि मृत परिजन आपके साथ है और आप से कुछ कहना चाहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here