10

विश्व खाद्य एवं कृषि संगठन (2007) के अनुसार विश्व में बकरियों की संख्या लगभग 85 करोड़ 2 लाख और 20 हजार है। इसमें से लगभग 13.5 करोड़ बकरियां भारत में पाई जाती हैं, जो विश्व का लगभग 14. 76 प्रतिशत है और ये देश की जीडीपी में महत्वपूर्ण योगदान करती हैं। भारत में बकरी पालन गरीब किसानों के लिए और कम क्षेत्र में भी इसे आसानी से रखा जा सकता है। बकरी का दूध कई बीमारियों में न केवल रामवाण का काम करता है बल्कि मर्दानगी बढाने वाला भी होता है। क्योकि बकरी का दूध बहुत ही गुणकारी होता है। एक गिलास यानि लगभग 250 ग्राम बकरी का दूध पीने वाले की आंते हमेशा स्वस्थ रहती हैं। बकरी का दूध पीने के फायदे –

5-7 खजूरों को ताजा बकरी के दूध में रातभर के लिए भिगो दें। सुबह उसी दूध के साथ खजूर को खाए, इससे यौन शक्ति बढ़ती है।

इससे कोलेस्ट्रोल बैलेंस रहता है। हार्ट अटैक, स्ट्रोक्स को रोकने में यह दूध बहुत फायदेमंद है।

पोटेशियम का स्तर इसमें ज्यादा होने के कारण यह ब्लड प्रेशर को भी सही रखता है।

बकरी का दूध पीने से कैल्शियम की कमी पूरी होती है जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं।

बकरी के दूध में सेलेनियम मिनिरल होता है जो शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है।

बकरी का दूध पीने से आंतों की सूजन कम होती है। रोजाना एक ग्लास बकरी का दूध पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here