10

अपराधियों की पैठ कितनी गहरी है इसका अंदाजा मणिपुर के पुलिस अफसर के हलफनामे से लगाया जा सकता है। मणिपुर की पुलिस अधिकारी थौनाओजम बृंदा ने मणिपुर हाईकोर्ट में हलफनामा दाखिल कर यहा के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने अपने हलफनामे में कहा है कि ड्रग माफिया लुहखोसेई जोउ को छोड़ने के लिए उन पर गिरफ्तार मुख्यमंत्री बीरेन सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की ओर से दबाव डाला गया।

गौरतलब है कि हलफनामे में बृंदा ने कहा है कि उनपर ड्रग माफिया जोउ को छोड़ने को कहा गया साथ ही उसके खिलाफ कोर्ट में दायर चार्जशीट को हटाने का दबाव बनाया गया। जानकारी के अनुसार बृंदा ने 19 जून, 2018 को ड्रग माफिया लुहखोसेई जोउ को 28 करोड़ रुपए की ड्रग और नकदी के साथ गिरफ्तार किया था। महिला पुलिस अधिकारी की तरफ से अपने ऊपर लगाए गए आरोपों मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह का कहना है कि मामला अदालत में है, इसलिए इस पर टिप्पणी करना उचित नहीं है।

ज्ञात हो कि कोर्ट ने 21 मई को ड्रग माफिया जोउ की अंतरिम जमानत को दे दी थी, इस पर महिला पुलिस अधिकारी भड़क गईं थी और उन्होंने एनडीपीएस कोर्ट के फैसले की फेसबुक पर आलोचना भी की थी। इसका कोर्ट संज्ञान लेते हुए उन पर अवमानना का मामला दर्ज कर लिया है। इस सबके बाद भी बृंदा ने मणिपुर हाईकोर्ट में एक हलफनामा दायर कर मुख्यमंत्री से लेकर डीजीपी तक पर गंभीर आरोप लगाए। विवाद गहराने पर नारकोटिक्स विभाग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रहीं बृंदा का तबादला कर उन्हें मुख्यालय भेज दिया गया। लेकिन उन्हें कोई नया प्रभार नहीं सौंपा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here