6

उत्तर प्रदेश बांदा जेल में बंद माफिया डॉन विधायक मुख्तार अंसारी(MLA Mukhtar Ansari) को ईद के मौके पर एक बड़ी खुशखबरी मिली है। कोरोना की जंग लड़ रहे मुख्तार अंसारी की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है। जेल में रहकर उन्होंने कोरोना महामारी को मात दी।

उत्तर प्रदेश के साथ ही अन्य राज्यों में भी करीब 50 आपराधिक मामले में नामजद मऊ से विधायक मुख्तार अंसारी पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। मुख्तार अंसारी के साथ-साथ जेल में बंद कैदी भी कोरोनावायरस हो गए थे। जिला जेल प्रशासन को गुरुवार को मिली। मुख्तार अंसारी की कोरोनावायरस संक्रमण की रिपोर्ट में उनका टेस्ट नेगेटिव आया है। कोरोना महामारी से लड़ रहे विधायक मुख्तार अंसारी का ज्यादा समय जेल में बैरक के बाहर पेड़ के नीचे बीता।

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से हुई केसों की सुनवाई

कोरोना संक्रमित होने के बाद जेल में मुख्तार अंसारी का इलाज चल रहा था। बीते कुछ दिन पहले परीक्षण भी सामान्य रहा लेकिन ब्लड शुगर लेवल काफी बढ़ा हुआ था। इस बीमारी के बीच उनकी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के द्वारा मऊ, आजमगढ़ और पंजाब में चल रहे केसों की सुनवाई चलती है। माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को बीती 8 अप्रैल को पंजाब की स्वरूपनगर जेल से बांदा जेल की बैरक नंबर 15 में शिफ्ट किया गया था। उसके बाद से मुख्तार की गहन निगरानी होती है।

यह है मामले

तरवा थाना क्षेत्र के एरा खुर्द गांव में साल 2014 में सड़क बनवाने के दौरान वर्चस्व की लड़ाई में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के लोगों द्वारा अंधाधुन फायरिंग की गई थी। फायरिंग के दौरान एक मजदूर की मौत हो गई थी। वहीं एक मजदूर घायल हो गया था इस मामले में तरवा थाने में मुख्तार और उसके लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इसी मामले को लेकर मुख्तार और उसके 10 सहयोगियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई हुई थी पुलिस ने मुख्तार को वारंट भी तामिल कराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here