10

मेथी और पालक भी आप अपने घर में आसानी से लगा सकते हैं. पालक का सबसे बड़ा उपयोग है रक्त की कमी को पूरा करना. यानि अनीमिया को दूर करना. आप इसके पत्ते भी चबा सकते है और जूस की तरह भी इसका सेवन कर सकते हैं.  जिनको शरीर में कोई बीमारी बार बार लग रही हो जैसे कि उन्हें बार बार संडास जाना पढ़ता है, तो उन लोगो को इनसे परहेज रखना चाहिए.

जिन्हें पथरी है चाहे वो किडनी में हो या ब्लैडर में, उन्हें मेथी और पालक से दूर रहना चाहिए. बाकि कोई भी इसको खा सकतें है. जिन्हें कब्ज़ या संडास न आने की प्रोब्लम रहती है, उनके लिए पालक और मेथी सबसे अच्छी औषधि है. पालक की और मेथी की भाजी जितनी हो सके खानी चाहिए, क्योंकि नियमित रूप से तीन से चार महीने खाने से आपको किसी प्रकार की बीमारी नही आती.

मेथी और पालक एक बहुत ही बेहतरीन औषधि है. जिन्हें बहुत मुत्रता नामक बीमारी होती है, यानि बार बार पेशाब आना. इस रोग के लिए यह एक मात्र औषधि है,.जिनकी आँखों की रौशनी कम है या कम दिखाई देता है, उनके लिए पालक और मेथी सबसे अच्छी है. जिन लोगो को सुबह उठते ही चक्कर आते है, उन लोगो के लिए भी ये दोनों बहुत फायदेमंद औषधिया है. शरीर में रक्त के दुष्ण को पालक और मेथी दूर करती है.

अगर मेथी और पालक की बात की जाये तो राजीव जी का मानना है कि शुगर से पीड़ित लोगो के लिए पालक और मेथी से बढिया कुछ भी नही है. इन लोगो को रोज़ पालक और मेथी का सेवन करते रहना चाहिए. इससे शुगर कण्ट्रोल में रहती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here