साल 2020 मनोरंजन जगत के लिए शुरुआत से ही कुछ अच्छा नहीं रहा | इसी बीच सुशांत सिंह राजपूत के मृत्यु ने देश को झकझोर कर रख दिया | सुशांत कि मौत की वजह बॉलीवुड में चल रहे नेपोटिज्म को माना जा रहा है | हालाँकि इस पर पहले भी बात हुयी है, पर इस मामले को कभी गंभीरता से नहीं लिया गया | लेकिन सुशांत की मौत पर नेपोटिज्म पर बहस गरमा गयी है | कई बड़े कलाकार भी इसपर अपनी बात रख रहे है| ऐसे में भोजपुरी एक्ट्रेस अक्षरा सिंह ने भी इस लड़ाई में बड़े सवाल खड़े कर दिए है |
अक्षरा सिंह ने अपना एक वीडियो शेयर किया है, जिसमे वह कह रही है कि स्टार किड्स को फिल्म इंडस्ट्री में आने का मौका आसानी से मिल जाता है | जबकि ऐसे सभी लोगों को मौका मिलना चाहिए, जो कलाकार बनना चाहते हैं और प्रतिभाशाली हैं | उन्होंने कहा कि स्टार किड्स को भी संघर्ष से गुजरना चाहिए | उन्हें भी ऑडिशन देने चाहिए |
अक्षरा ने बताया कि भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में गुटबाजी होती है | उन्होंने कहा कि जब वे यहां नई नई आई थी तब वे किसी और हीरो के साथ काम करती थी तो दूसरा हीरो उनके साथ काम करने से मना कर देता था | तब कहा जाता था कि ये उस गुट की हीरोइन है | उन्होंने कहा कि उन्हें बहुत सारी फिल्मों से निकाला गया। सारी फिल्म इंडस्ट्री एक तरफ हो गई थी |
अक्षरा ने अपने वीडियो में कहा कि उस समय उनकी हालत बहुत बिगड़ गयी थी | उनके साथ आत्महत्या करने के माहौल पैदा हो गए थे | उन्होंने कहा कि उस समय मेरा साथ किसी ने नहीं दिया, जब में मुसीबतो से घिरी हुयी थी | जब आप जिन्दा होते है तो आपके पास कोई नहीं आता लेकिन जब आप मर जाते है, तो लोग मोमबत्ती लेकर निकल पड़ते | उन्होंने कहा कि आज भी संघर्ष कर रही है |
जानकारी के लिए बता दे अक्षरा  सिंह ने सुशांत के घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी थी | अक्षरा ने सुशांत के पिताजी से भी मुकालात की थी | उन्होंने कहा था कि सुशांत एक अच्छे इंसान थे, उनके जाने का दुःख हर किसी को है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here