मोदी कैबिनेट में शामिल ऐसे 5 खास चेहरे जिन्हें पहली बार बनाया गया मंत्री

नरेंद्र मोदी का बतौर प्रधानमंत्री के रूप में गुरुवार से दूसरा कार्यकाल शुरू हो गया। शाम सात बजे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नरेंद्र मोदी को देश के 16वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाई।

मोदी के साथ उनके कैबिनेट मंत्रियों को भी राष्ट्रपति ने शपथ दिलाया। बता दें कि आज कुल 58 मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई है।

इन में से 19 ऐसे मंत्री हैं जिन्हें पहली बार मोदी मंत्रिमंडल में जगह मिली है। आइए जानते हैं ऐसे पांच मंत्रियों के बारे में जिन्हें पहली बार मोदी कैबिनेट में किया गया शामिल-

1. एस जयशंकर

1977 बैच के आईएफएस अधिकारी और पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर का मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होना चौंका देने वाला है। उन्हें डायरेक्ट मोदी कैबिनेट में जगह मिली है। 64 वर्ष के जयशंकर जयशंकर विदेश मामलों में अच्छी पकड़ रखने वाले काफी तेज-तर्रार अफसर माने जाते हैं।

उन्होंने संयुक्त राज्य अमरीका, चीन और चेक गणराज्य में भारतीय राजदूत और सिंगापुर में उच्चायुक्त के रूप में कार्य किया है। जनवरी 2015 में उन्हें केंद्र सरकार ने विदेश सचिव बनाया था। जयशंकर मुल रूप से तमिलनाडू के रहने वाले हैं।

2. नित्यानंद राय

बिहार बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। अमित शाह के करीबी माने जाने वाले नित्यानंद ने लोकसभा चुनाव में बिहार के उजियारपुर सीट से जीत हासिल की है।

बिहार से आरजेडी प्रमुख लालू यादव के बरसों पुराने किले को ढहाने के लिए अमित शाह ने नित्यानंद को 2016 में राज्य का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था, जिसे उन्होंने बखूबी निभाया। उन्हें उसूलों और पक्के इरादे वाला राजनीतिज्ञ कहा जाता है।

बता दें कि नित्यानंद का राजनीतिक सफर 1981 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता के तौर पर शुरू हुआ था। राजनीति के अलावा राय को खेती और किसानी का भी शौक है। 20 एकड़ में उनकी अमरूद, केला और सब्जियों की खेती है। राय के मुताबिक जब भी उन्हें समय मिलता है वह खुद ही खेत में जुताई करते हैं।

प्रह्लाद जोशी

प्रह्लाद जोशी एक ऐसा नाम जिसने कर्नाटक में बीजेपी का झंड़ा गाड़ा है। कर्नाटक की 28 सीटों में से 26 पर बीजेपी के सहयोगी दल एनडीए को जीत हासिल हुई है।

इस जीत का श्रेय चौथी बार धारवाड़ से चुनाव जीतने वाले प्रह्लाद जोशी को जाता है। यही वजह है कि जोशी को मोदी के मंत्रिमंडल में जगह दी गई है। बता दें कि प्रह्लाद जोशी 2004, 2009, 2014 और फिर 2019 लगातार चार बार सांसद रह चुके हैं।

4. अरविंद सावंत

मोदी कैबिनेट में शिवसेना के नेता अरविंद सावंत को जगह मिली है। गुरुवार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अरविंद सावंत को कैबिनेट मंत्री के तौर पर शपथ दिलाई गई। सावंत मुंबई दक्षिण से सांसद हैं।

इनकी छवि शिवसेना के तेजतर्रार नेताओं में होती है। उन्होंने कांग्रेस के मिलिंद देवड़ा को दो बार लोकसभा चुनाव में पटखनी दी है। सावंत 1996 से 2010 के बीच दो बार पार्षद भी रह चुके हैं। बता दें कि 67 साल के अरविंद सावंत ने 1995 तक महानगर टेलिफोन नगर लिमिटेड यानी एमटीएनएल में बतौर इंजीनियर काम भी किया है।

5. अर्जुन मुंडा

इस बार मोदी सरकार में कई नए चेहरे शामिल हैं। जिसमें से एक अर्जुन मुंडा भी हैं। बता दें कि मुंडा तीन बार झारखंड के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उनके नाम सबसे कम उम्र में मुख्यमंत्री बनने का रिकार्ड भी है।

अर्जुन मुंडा 35 की उम्र में झारखंड के सीएम बने थे। वह झारखंड विधानसभा में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं। अभी वह वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। मुंडा ने झारखंड की खूंटी लोकसभा सीट से लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here