7

खबरों के मुताबिक पीएम मोदी ने साल 2019 में कुंभ मेले के सफाई कर्मचारियों के कल्याण के लिए अपनी व्यक्तिगत बचत से 21 लाख रुपये काी धनराशि दान किए थे। इतना ही नहीं पीएम मोदी ने दक्षिण कोरिया की सियोल शांति पुरस्कार के साथ प्राप्त 1.3 करोड़ रुपये की पूरी धनराशि नमामि गंगे मिशन के तहत गंगा नदी की साफ-सफाई के लिए दे दिया था। प्रधानमंत्री रहते हुए उन्हें जो स्मृति चिन्ह मिले, हाल ही में उनकी नीलामी से इकट्ठा हुए 3.40 करोड़ रुपये भी नमामि गंगे मिशन में दिए जा रहे हैं।

पीएम मोदी को 2015 जो भी उपहार मिले थे उसकी नीलामी सूरत में की गई थी। नीलामी के दौरान प्राप्त  8.35 करोड़ रुपये की धनराशि भी नमामि गंगे मिशन में दिए गए। गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल पूरा होने पर मोदी ने गुजरात सरकार के कर्मचारियों की बेटियों की शिक्षा के लिए व्यक्तिगत बचत से 21 लाख रुपये दान किए थे। इसके अलावा, मुख्यमंत्री के रूप में मिले सभी उपहारों की नीलामी करके जो 89.96 करोड़ रुपये जुटाए गए थे, उसे उन्होंने कन्या केलावनी कोष में दान कर दिया था। यह योजना लड़कियों की शिक्षा के लिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here