6

आज समय बहुत बदल गया है। लोग खुद में इतना बीजी हो गए है कि उन्हें लोगों से बात करने तक का समय नहीं लगता। हमें खुद में इतना व्यस्त करने वाला कोई और नहीं बल्कि मोबाइल है। मोबाइल हम लोगों की ज़िंदगी का अहम हिस्सा बन गया है। मोबाइल ही ना जाने कितनों की मौत का कारण बन चुका है। एक ऐसा ही मामला सुनने में आ रहा है। यह मामला गुजरात का हैं। जहां पिता ने जब अपने नाबालिग बेटे को मोबाइल गेम खेलने से टोका तो बेटे ने गुस्से में आकर अपने पिता की घर में ही गला दबाकर हत्या कर दी।

बेटे ने गला दबाकर ली जान

पत्नी डॉली और उसके नाबालिग बेटे ने हॉस्पिटल के डॉक्टर को उस दौरान यह बताया था कि अर्जुन आठ दिन पहले बाथरूम में गिर गए, तब उन्हें चोट आई थी, मंगलवार को वो रात में सो गए सुबह उठे ही नही थे। मृतक अर्जुन सरकार की पत्नी डॉली और उनके नाबालिग बेटे की बातों से अस्पताल के डॉक्टर को उनकी बातों मेंं विश्वास नहीं हुआ, शक के चलते उन्होंने शव का पोस्टमॉर्टम करवाने का फैसला लिया।

पोस्टमॉर्टम कराने के बाद आई रिपोर्ट में सच कुछ और ही था। रिपोर्ट से पता चला कि अर्जुन की मौत गला दबाने से हुई थी। इस मामले की सूचना इच्छापोर पुलिस को दी गई। पुलिस द्वारा पूछताछ करने पर 17 वर्षीय बेटे ने बताया कि वो सारा दिन मोबाइल पर गेम खेलता रहता था, इस बात पर उसके पिता अर्जुन सरकार उसे हर समय डाटते रहते थे, मंगलवार की रात जब वह सो गए तो उसने सोते हुए अपने पिता का गला दबाकर मार डाला।

पुलिस ने फ़िलहाल मृतक अर्जुन सरकार की पत्नी डॉली और नाबालिग बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले की कार्रवाई शुरू की है। मोबाइल में गेम खेलने से टोकने को लेकर सूरत में हुई वारदात ने हर किसी को चौंका दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here