7

दिल्ली में मानसून (Monsoon) मेहरबान हुआ है, जहां जमकर बारिश हो रही है। वहीं पहाड़ी राज्यों में मानसून आफत बना हुआ है। लगातार अलग-अलग राज्यों से लैंडस्लाइड की खबरें सामने आ रही हैं। इन प्राकृतिक आपदाओं में कई लोगों की जान अब तक जा चुकी हैं। मौसम विभाग (Meteorological Department) के वैज्ञानिक आरके जेन्नामनी ने बताया है कि मानसून एरिया टू एरिया एक्टिव होता है। पहले जहां महाराष्ट्र में मानसून जमकर बरसा वहीं अब दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में लगातार बारिश हो रही है। इसके बाद संभावना है कि मध्य प्रदेश, ओड़िशा और छत्तीसगढ़ मानसून एक्टिव होगा।

आरके जेन्नामनी ने बताया है कि अभी दिल्ली, पंजाब और उत्तराखंड के ऊपर ज्यादा बादल हैं। हिमाचल के सोलन जैसे क्षेत्रों में 100 से 116 सेंटीमीटर तक बारिश दर्ज की गई है। पहाड़ी राज्यों में हो रही भारी बारिश की वजह से ही लैंडस्लाइड (landslides) की ज्यादा खबरें सामने आ रही आई हैं। दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में काफी बारिश हो चुकी है लेकिन पिछले 24 घंटे में बारिश कम हुई। मंगलवार की तुलना बुधवार को कम बारिश हुई है। मौसम वैज्ञानिक ने कहा है कि दिल्ली में एक दिन के लिए अभी ऑरेंज अलर्ट है।

वहीं मंगलवार को पालम में ज्यादा बादल थे लेकिन बुधवार को वो अन्य जगहों पर देखे जा रहे हैं। जेन्नामनी ने बताया है कि दिल्ली, उत्तर पश्चिम जैसे राजस्थान, हरियाणा और पंजाब बीते वर्ष की तुलना मौजूदा वर्ष में ज्यादा अच्छी बारिश हुई है। दिल्ली में मौसम आगे भी अच्छा ही रहने वाला है। आरके जेन्नामनी ने बताया है कि मौसम का नेचर ऐसा ही होता है।

जो दक्षिण से शुरू होता है, जिसके बाद उत्तर तक आता है। इसमें कुछ वक़्त जरूर लगता है। मुंबई में जहां 8 जून को मानसून आया था। वहीं राजस्थान में मानसून 13 जून को आया था। उन्होंने यह भी कहा है कि अभी दो दिनों तक पहाड़ी राज्यों की यात्रा न करें। अभी भी इन राज्यों में लैंडस्लाइड होने की संभावना काफी ज्यादा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here