13
जब से कोरोना फैलने लगा है, तभी से हर दिन कोई न कोई अजीब खबरे आ रही है | व्हाट्सप्प पर ऐसे कई मेसेज वायरल हो रहे है, जिनमे कोरोना को भगाने का दावा किया जा रहा है | हालाँकि सरकार इन पर पाबंदी लगाने की कोशिश कर रही है और लोगो को समझा रही है | लेकिन फिर भी कुछ लोग इन अफवाहों में विश्वास कर रहे है और कोई तो अपने ही नए तरीके खोज रहे है |
ऐसा ही एक मामला ओडिशा के मलकानगिरी से आया है | यहाँ कोरोना वायरस से बचने के लिए कुछ ग्रामीणों ने 10 से 12 साल के बच्चो को शराब पिला दी | इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है |
मलकानगिरी में ग्रामीणों ने 10 से 12 साल के 50 से भी ज्यादा बच्चो को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए सलपा(देशी शराब)  पिला दी | इसे लेकर गांव के लोगो का कहना है कि इससे बच्चो में कोरोना वायरस नहीं फैलेगा |
रिपोर्ट के अनुसार ये घटना मलकानगिरी जिले के परसनपाली गांव की है | वायरल हो रहे वीडियो में 50 बच्चो को खुलेआम शराब परोसी जा रही है | ये शराब उन्हें कोरोना से बचाव के लिए पिलाई गयी | लेकिन वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि कोरोना के दिशा निर्देशों के तहत मास्क पहनने और सामाजिक दूरी का पालन करता कोई नजर नहीं आ रहा है |
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो की लोग खूब आलोचना कर रहे है और शराब पिलाने वाले लोगो पर कार्यवाही करने की बात कह रहे है | कोरोना से बचने के लिए शराब का सेवन करने को लेकर पहले ही इस दावे को ख़ारिज कर दिया गया है |
इसे लेकर अरिजीत मोहपात्रा ने कहा कि कोरोना जीआई ट्रैक्ट से नहीं गुजरता है | ये नाक आँख और मुंह से गुजरता है | ये शरीर में श्वसन मार्ग से भी प्रवेश करता है | डॉक्टर ने कहा कि शराब ना तो निवारक है ना किसी चीज का इलाज | साथ ही बच्चो को शराब देना एक अपराध है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here