7

उत्तर प्रदेश बोर्ड (UP Board) के 10वीं और 12वीं परीक्षा के रिजल्‍ट जारी हो चुके हैं। 2020-21 शैक्षिक सत्र में 10वीं के 99.53 प्रतिशत और 12वीं में 97.88% छात्र पास उत्तीर्ण हुए हैं। छात्र अपना रिजल्ट यूपी बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upresults.nic.in और upmsp.edu.in पर देख सकते हैं। हाई स्कूल में कुल 29,96,031 परीक्षार्थियों में से 29,82,055 परीक्षार्थी पास हुए हैं। इनमे से 16,76,916 छात्र हैं और 13,19,115 छात्राएं हैं, जिसमे से 16,68,868 छात्र पास हुए हैं और 13,13,187 छात्राएं उत्तीर्ण हुई हैं। छात्रों के पास होने का प्रतिशत 99.52 है और छात्राओं के पास होने का प्रतिशत 99.55 है। छात्राएं एक भी फिर आगे रही हैं और दोनों के बीच 0.03 अंतर है। इसके आलावा 82,238 परीक्षार्थियों को सामान्य प्रमोट किया गया है।

12वीं परीक्षा में कुल 26,10,247 परीक्षार्थियों में दी थी, जिसमे से 25,54,813 परीक्षार्थी पास हुए हैं, जिसमे से 14,74,317 छात्र हैं और 11,35,930 छात्राएं हैं। इसमें से 14,37,033 छात्र पास हुए हैं और 11,17,780 छात्राएं उत्तीर्ण हुई हैं। छात्रों का पास होने का प्रतिशत 97.47 रहा है जबकि छात्राओं का पास होने का प्रतिशत 98.40 है, जो कि छात्रों के मुकाबले 0.93 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं 62,506 परीक्षार्थियों को प्रमोट किया गया है।

कोरोना संकट की वजह से यूपी बोर्ड ने 10वीं और 12वीं परीक्षा नहीं कराई थी। बोर्ड ने हाईस्कूल का रिजल्ट पुरानी कक्षाओं को रिजल्ट का आधार बनाया है। क्लास 9 और 10 के प्री-बोर्ड की परीक्षा के अंकों को 50-50 प्रतिशत वेटेज दिया गया है। छमाही परीक्षा के अंकों को 10वीं के रिजल्ट में नहीं जोड़ा गया है। बोर्ड ने इंटरमीडिएट के रिजल्ट के लिए हाईस्कूल के अंकों को 50 प्रतिशत और 11वीं की वार्षिक-अर्धवार्षिक परीक्षा के अंकों को 40 प्रतिशत और कक्षा 12 के प्री-बोर्ड रिजल्ट के 10 प्रतिशत अंक जोड़ने का निर्णय लिया है।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी की वजह से यूपी बोर्ड ने शैक्षिक सत्र 2020-21 में 10वीं और 12वीं क्लास के एग्जाम नहीं कराए थे। मौजूदा वर्ष में ऐसा पहली बार हो रहा है कि बिना एग्जाम दिए ही परीक्षार्थियों पास कर दिया गया है। 10वीं और 12वीं क्लास के एग्जाम के लिए इस वर्ष 56,03,813 छात्र-छात्राओं ने रजिस्ट्रेशन कराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here