6

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले सियासी उठापटक का दौर जारी है। योगी सरकार के कैबिनेट में जहां विस्तार की चर्चा चल रही थी। वहीं अब बताया जा रहा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) से कई विधायक और मंत्री खुश नहीं हैं। ऐसे में दोबारा सत्ता में आना मुश्किल है, जिसके बाद सोशल मीडिया पर चर्चा शुरू हो गई कि सीएम को बदला जा सकता है। जंगल में आग की तरह ये अफवाह फैल गई, जिसे सुनते ही एक युवक परेशान हो गया और उसने बीजेपी (BJP) के बड़े नेताओं तक अपनी बात पहुंचने के लिए अपने खून से चिट्ठी लिखी और उसे बीजेपी अध्यक्ष तक पहुंचाई।

सीएम योगी के समर्थक ने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) को अपने खून से लिखे पत्र में लिखा कि ‘सीएम योगी आदित्यनाथ को अगर उनके पद से हटाया गया तो वो आत्मदाह कर लेगा। लखनऊ में तीन दिनों से बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में बैठकों का दौर जारी है। पहले चर्चा थी कि यह बैठक में योगी सरकार के मंत्री मंडल के विस्तर के लिए हो रही है लेकिन खबर आई कि अब सीएम को बदलने की मांग हो रही है। सीएम योगी को पद से हटाने की चर्चा जैसे ही शुरू हुई तो उनके समर्थक नाराज हो गए।

बीजेपी अध्यक्ष को अपने खून से पत्र गोंडा (Gonda ) के सोनू ठाकुर (Sonu Thakur) ने लिखा है। उन्होंने मांग की है कि सीएम योगी को उनके पद से न हटाया जाये। सोनू का कहना है कि अगर योगी आदित्यनाथ को उनके पद से हटाया गया तो वो बीजेपी के प्रदेश कार्यालय एक सामने ही आत्मदाह कर लेंगे और अगर ऐसा कुछ भी होता है तो उसके लिए बीजेपी के प्रदेश के नेता ही जिम्मेदार होंगे।

समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह (IP Singh) कभी पीएम नरेंद्र मोदी के समर्थक थे और बीजेपी नेता थे लेकिन 2017 में जैसे ही प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी वो सपा में शामिल हो गए। इन दिनों आईपी सिंह सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं और दावा कर रहे हैं कि बीजेपी में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। पार्टी के ज्यादातर विधायक चाहते हैं कि सीएम योगी को उनके पद से हटाया जाये। अगर ऐसा नहीं होता है तो पार्टी दो हिस्सों में बांट जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here