8
रविवार, बुधवार और गुरुवार का दिन सूर्यदेव, गणेश जी और भगवान विष्णु से संबंधित है | लेकिन इसके अलावा ये तीनो दिन भैरवनाथ से भी संबंधित है | भैरवनाथ जी को हम भैरव और काल भैरव के नाम से भी जानते है | पुराणों के अनुसार काल भैरव भगवान शिव के अंश है | नकारात्मकता और बुरी शक्तियों से छुटकारा पाने के लिए अक्सर लोग भैरव नाथ जी की शरण में जाते है | भैरवनाथ जी की कृपा से जीवन में सुख शांति आती है | वैसे भैरवनाथ जी को प्रसन्न करना बहुत ही आसान है | आज हम आपको भैरवनाथ जी के कुछ उपाय बताने जा रहे है, जिनसे आप भैरवनाथ जी को प्रसन्न कर सकते है |
कुत्ते को रोटी
 
 
पहला उपाय यह है कि आप एक रोटी ले और उसे तेल में डुबो ले | इसके बाद रोटी को तेल से निकालकर काले रंग के या दो रंग के कुत्ते को ये रोटी खिला दे | यदि कुत्ता रोटी खा लेता है, तो ये इस बात का संकेत है कि भैरवनाथ जी आपसे प्रसन्न है | वहीँ यदि कुत्ता उस रोटी को नहीं खाता है, तो आप ये उपाय तब तक जारी रखे | जब तक कुत्ता रोटी ना खा ले | इस बात का ध्यान रखे कि आप ये उपाय रविवार, बुधवार और गुरुवार को ही करे |
काले तिल
 
 
भैरवनाथ जी को प्रसन्न करने के लिए बुधवार को आप ये उपाय करे | आप सवा सौ ग्राम काले तिल, काली उड़द और 11 रूपये एक काले रंग की पोटली में बाँध ले | अब इस पोटली को आप भैरवनाथ जी के मंदिर में रख आये | इससे आप पर भैरवनाथ जी की कृपा बनेगी |
ये करे अर्पित
 
 
आप बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को भैरवनाथ जी की पूजा करे और उन्हें पूजा में सिन्दूर, नारियल, अगरबत्ती, फूल और जलेबी अवश्य अर्पित करे | इन वस्तुओ के अर्पण से भैरवनाथ जी प्रसन्न होते है और हम पर कृपा दृष्टि बनाते है | इसके अलावा रविवार के दिन आप भैरवनाथ जी के समक्ष 33 दीप अवश्य जलाये |
नीम्बू
 
 
गुरुवार के दिन भैरवनाथ जी को नीम्बू चढ़ाना सुबह फल प्रदान करता है | इसके लिए आप 5 गुरुवार तक भैरवनाथ जी को 5 नीम्बू अर्पित करे | इसके अलावा आप चाहे तो कुत्ते को गुरुवार के दिन गुड़ भी खिला सकते है | ये शुभ फल प्रदान करता है |
दान
 
 
दान को सबसे बड़ा धर्म बताया गया है | बुधवार, गुरुवार और रविवार के दिन आप जरूरतमंद लोगो को जरूरत की वस्तुए दान करे | साथ ही भूखो को भोजन खिलाये | इससे आप पर भैरवनाथ जी के साथ साथ अन्य देवी देवताओ की भी कृपा बनेगी और आपको शुभ फल प्राप्त होगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here