10

रानी मुखर्जी फिल्मी दुनिया की सफल अभिनेत्रियों में से एक रही हैं. बेहद कम उम्र में ही उन्होंने फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया और काफी नाम भी कमाया. लेकिन एक दौर ऐसा आया, जब रानी मुखर्जी की जिंदगी मुश्किलों से भर गई. रानी मुखर्जी 90 के दशक में बहुत बड़ी हीरोइन बन गईं और उनके साथ हर निर्माता-निर्देशक काम करना चाहते थे. उन्हें फिल्मों में काम करने के लिए बड़े-बड़े ऑफर देते थे.

सोशल मीडिया पर कुछ दिन से रानी मुखर्जी से जुड़ा एक किस्सा चर्चा में बना हुआ है. यह किस्सा रानी मुखर्जी और उनके ससुर यश चोपड़ा से जुड़ा हुआ है. रानी मुखर्जी भले ही आज फिल्मी दुनिया में एक्टिव नहीं है. लेकिन उस दौर में रानी मुखर्जी बहुत डिमांड में रहती थीं. एक बार तो रानी मुखर्जी ने यश चोपड़ा की फिल्म साथिया का ऑफर ठुकरा दिया था. लेकिन यश चोपड़ा ने हार नहीं मानी और उन्होंने रानी के माता पिता के जरिए उन्हें इस फिल्म में काम करने के लिए राजी कर लिया.

यश चोपड़ा रानी मुखर्जी के माता-पिता से मिले और उनसे कहा कि वह अपनी बेटी को इस फिल्म में काम करने के लिए राजी करें. लेकिन तब रानी के माता-पिता ने कहा कि वो इस फिल्म में काम नहीं करना चाहती. इस दौरान यश चोपड़ा ने रानी मुखर्जी को फोन किया और उन्हें काफी समझाया. लेकिन जब वह नहीं मानी तो उन्होंने रानी को धमकी दे दी कि मैं अपने कमरे का दरवाजा बंद कर रहा हूं और जब तक तुम इस फिल्म में काम करने के लिए राजी नहीं हो जाती, मैं तुम्हारे माता-पिता को बाहर नहीं निकलने दूंगा.

आखिरकार रानी को मजबूरी में उस फिल्म में काम करने के लिए हां कहनी पड़ी थी. लेकिन अच्छी बात यह रही कि फिल्म रिलीज हुई तो उसे बहुत पसंद किया गया. इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर भी बहुत सफलता हासिल की. बाद में रानी मुखर्जी ने यश चोपड़ा के बेटे आदित्य चोपड़ा के साथ शादी कर ली.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here