10

इस योजना में बिना कोई प्रीमियम दिए किसानों को मुआवजा मिलेगा। इस योजना को “मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना” के नाम से जाना जायेगा। यह योजना खरीफ की फसलों के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) का स्थान लेगी। मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने गांधीनगर में पत्रकारों को बताया कि प्रदेश के 56 लाख किसानों की खरीफ फसल के लिए राज्‍य सरकार जीरो प्रीमियम पर फसल बीमा की सुविधा उपलब्ध कराएगी।

मुख्‍यमंत्री ने बताया कि अक्सर ऐसा होता है जब जून से नवंबर के बीच आई बाढ़ या बेमौसम बारिश से किसानों की खरीफ फसल चौपट हो जाती है ऐसे में सरकार ने किसानों को चार हेक्‍टेयर तक की फसल का मुआवजा देने का फैसला किया है। यह मुआवजा किसानों को तभी दिया जाएगा। जब सूखा या अधिक बारिश या बेमौसम बारिश के कारण फसल का नुकसान 33 फीसदी से ज्यादा का होगा।

प्रति हेक्‍टेयर के हिसाब से दिया जाएगा मुआवजा

60 फीसद फसल के नुकसान पर प्रति हेक्‍टेयर 20 हजार और इससे अधिक फसल नष्‍ट होने पर 25 हजार रुपये प्रति हेक्‍टेयर का मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए किसानों को बीमा का रजिस्ट्रेशन कराने व प्रीमियम भरने की भी आवश्यकता नहीं होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here