सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को तीसरे मोर्चे में जाने के संकेत दिए और साथ ही उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करने की बात कही थी, इसका कारण भी उन्होंने बताया था।

अखिलेश यादव के अनुसार मध्यप्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में एक भी सपा विधायक को मंत्री नहीं बनाने पर अखिलेश यादव खफा दिखे थे और कांग्रेस के लिए चेतावनी जारी कर दी थी। इसके बाद तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस नेता केसीआर के साथ तीसरे मोर्चे की कवायद में साथ रहने की बात कही थी। इसके बाद अब कांग्रेस भी हरकत में आई है और अखिलेश यादव को मनाने की कवायद तेज करते हुए बड़ा बयान दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, ‘समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय नेता के वक्तव्य में उनकी नाराजगी नजर आ रही है। नाराजगी कभी बेगानो से नहीं होती है। कांग्रेस और सपा के नेतृत्व आपस में बात करके इन चीजों को सुलझा लेंगे। जनता चाह रही है कि हम सब लोग मिलकर चुनाव लड़ें।’

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस सपा और बसपा के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में उतरने की तैयारी में है लेकिन अखिलेश यादव कांग्रेस के साथ आने से इंनकार कर चुके हैं लेकिन अब कांग्रेस अपना गठबंधन बनाने के लिए सपा अध्यक्ष को मनाने की जुगत में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here