8
आप में से कई लोगो ने रक्तदान किया होगा, तो आप ब्लड बैंक के बारे में जानते होंगे | वैसे आपने केवल इंसानो के ब्लड बैंक का नाम सुना होगा, लेकिन क्या अपने कभी जानवरो के ब्लड बैंक के बारे में सुना है | आपको भले ही ये बात थोड़ी अजीब लग रही हो, लेकिन बता दे ये बिलकुल सच है | आज दुनिया के कई देशो में जानवरो के ब्लड बैंक बनाये गए है, जिन्हे ‘पेट्स ब्लड बैंक’ कहा जाता है |
इन पेट्स ब्लड बैंक में अधिकतर कुत्ते और बिल्लियों का ही खून मिलता है, क्योंकि लोग इन्हे ही ज्यादा पालते है | ऐसे में किसी बिल्ली या कुत्ते को खून की जरूरत पड़ती है, तो ये ब्लड बैंक उनकी जरूरत को पूरा करते है |
बता दे जिस प्रकार इंसानो के खून के अलग अलग ग्रुप होते है, ठीक उसी तरह जानवरो के खून के भी अलग अलग ब्लड ग्रुप होते है | जानकारी के अनुसार कुत्तो में 12 प्रकार का ब्लड ग्रुप पाया जाता है, वहीँ बिल्लियों में 3 प्रकार का ब्लड ग्रुप पाया जाता है |
उत्तरी अमेरिका में स्थित पशु चिकित्सा ब्लड बैंक में कैलिफोर्निया और मिशिगन के कई इलाको के लोग अपने पालतू जानवरो को रक्तदान के लिए लेकर आते है |
उत्तरी अमेरिका के पशु चिकित्सा ब्लड बैंक के प्रभारी डॉक्टर मिल्स ने बताया की जानवरो के रक्तदान की प्रक्रिया में आधे घंटे का समय लगता है | इतना ही नहीं इसके लिए उन्हें जानवरो को एनेस्थीसिया देने की जरूरत भी नहीं पड़ती है |
अमेरिका में ऐसे कई स्थान है, जहाँ पशु ब्लड बैंक नहीं है | ऐसे स्थानों पर ब्लड बैंक के कैंप लगाए जाते है | एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटैन और अमेरिका जैसे देशो में लोग पशुओ के रक्तदान को लेकर काफी सतर्क है | लेकिन अभी कई स्थानों पर जागरूकता फलाना बेहद जरुरी है |
आपकी जानकारी के लिए बता दे, हमारे देश में भी जानवरो के लिए विशेष ब्लड बैंक बनाया है | इसका नाम तनुवास पशु ब्लड बैंक है | ये ब्लड बैंक तमिलनाडु पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान के अधीन कार्य करता है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here