गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन में फंसे लोगों को अपने घर बसों से भेजेगी जिस पर कई राज्य सरकारों ने आपत्ति जताई है और ट्रेन चलाने की मांग की है।

राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर ट्रेन चलाने की मांग की है। वहीं तेलंगाना के मंत्री तालासानी श्रीनिवास यादव ने भी ट्रेन चलाने की मांग की है।

सीएम श्रीनिवास ने सरकार की गाइलाइन पर जताते हुए कहा कि लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों में करीब दो करोड़ लोग फंसे हुए हैं, ऐसे में केंद्र की गाइडलाइन सही नहीं है। लोग इतनी गर्मी में 3 से 4 दिन कैसे बस में सफर कर पाएंगे। बसों की तुलना में ट्रेन बेहतर विकल्‍प है।

हालांकि गुरुवार को गृह मंत्रालय ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए इस मांग को ठुकरा दिया और कहा कि सभी मजदूर बसों से ही अपने घर जाएंगे।

स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस के कुल मामले अब 33,610 हो गए हैं और 1075 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले 24 घंटों में 1800 से भी ज्यादा मामले सामने आए हैं लेकिन 25 फीसदी रिकवर रेट भी रही है।

बहरहाल, 3 मई तक लॉकडाउन लगाया गया है। हालांकि कई सरकारें अपने राज्यों में लॉकडाउनन की डेट आगे बढ़ा रही हैं, तो कई स्थिति को देखते हुए लॉकडाउन को लेकर छूट दे रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here