इस ऐप में 100 से ज़्यादा नागरिक केंद्रित सेवाएं दी गई हैं। इन सेवाओं को केंद्र और राज्य सरकारों के कई अलग-अलग विभागों द्वारा संचालित किया जाएगा। पिछले दो दशकों में साइबर जगत में काफी बदलाव आया है।”

उमंग ऐप में डिजिटल इंडिया सेवाएं शामिल हैं। इनमें आधार, डिजिलॉकर और PayGov शामिल हैं। इसके अलावा इस ऐप में वो सभी बड़ी सरकारी सेवाएं एक जगह मिल जाएंगी जो अभी ऐप, वेब, एसएमएस और आईवीआर के जरिए मिलती हैं। ई-गवर्नेंसं की बात करें तो नागरिक उमंग ऐप को टैक्स भरने, एलपीजी सिलेंडर बुक करने और पीएफ अकाउंट के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अलावा सीबीएसई रिज़ल्ट को भी ऐप के जरिए देखा जा सकता है। फोन में हिंदी और अंग्रेजी के अलावा 10 भारतीय भाषाओं के लिए सपोर्ट भी दिया गया है। इसमें पेमेंट आधारित ट्रांज़ेक्शन एक्सेस भी है।

किसी भी थर्ड पार्टी ऐप से अलग ई-गवर्नेंस सेवाओं को एक्सेस करने के लिए, उमंग ऐरप आधार और दूसरी ऑथेंटिकेशन मैकेनिज़्म जैसे फोन नंबर और लोकेशन सपोर्ट करता है।

उमंग ऐप में सोशल मीडिया इंटीग्रेशन है जिससे आप अपने फेसबुक, गूगल और ट्विटर अकाउंट कनेक्ट कर वन-टच लॉगइन प्रक्रिया इनेबल कर सकते हैं।

उमंग ऐप को इस्तेमाल करने के लिए आपको अपना पहचान रजिस्टर करना होगा। रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया एक ओटीपी के जरिए होगी जिसे आपके मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। इसके बाद आपको कुछ सिक्योरिटी सवालों के जवाब देने होंगे जो बाद में पासवर्ड भूलने की स्थिति में उमंग अकाउंट को रिकवर कर पाएंगे। एक बार रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी करने के बाद, ऐप आपसे एक एमपिन सेट ककरने को कहेगा जो ऐप एक्सेस करने में मोबाइल नंबर के साथ काम आएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here