10

कुछ देश वैक्सीन बना भी चुके हैं जिनका ट्रायल चल रहा है। ऐसे में खबर है कि 6 वैक्सीन ट्रायल के फेज तीन में पहुंच गए हैं तो कुछ फेज 2—3 के संयुक्त ट्रायल के दौर से गुजर रहे हैं। वहीं दुनियाभर के देशों में वैक्सीन निर्माताओंं से डील को लेकर प्रयास जारी हैं। भारत सरकार भी कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन पर पूरी नजर बनाए हुए हैं। आलम यह है कि सरकार ने वैक्सीन की खरीद, पहचान, वितरण और टीकाकरण के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है। इसमें संबंधित सभी मंत्रालयों और संस्थाओं के प्रतिनिधियों को शामिल किया गया है।

सूत्रों की मानें तो पैनल का नेतृत्व नीति आयोग के डॉ. वीके पॉल करेंगे तो सह-अध्यक्ष के रूप में स्वास्थ्य सचिव राजीव भूषण उनके साथ रहेंगे। यह कमेटी भारत के लिए एक या एक से अधिक वैक्सीन की पहचान व खरीद के लिए प्लान बनाएगी, जिसका बिल लगभग अरबों डॉलर में होगा और टीकाकरण कराने के लिए प्राथमिकता भी तय करेगी। गौरतलब है कि वैक्सीन की गैर-मौजूदगी में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने का एकमात्र तरीका मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंशिंग और आम गतिविधियों पर अंकुश लगाना हैं।

कोरोना संक्रमण के चलते काम और सामान्य जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। यूं कह सकते है कि जिंदगी की गाड़ी बेपटरी हो चुकी है। उद्योग—धंधे बंद होने की वजह से रोजगार का गंभीर संकट बना हुआ है। बेरोजगारी के साथ—साथ भुखमरी की ओर देश बढ़ रहा है। यह माना जा रहा है जल्द इस महामारी का हल नहीं ढूंढ़ा गया था व्यापक स्तर पर नुकसान उठाना पड़ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here