7

उत्तर प्रदेश के बागपत (Baghpat) जिले एक अनुसूचित जाति की किशोरी के साथ दुष्कर्म और जबरन धर्म परिवर्तन (Conversion) कराने का मामला सामने आया है। आरोप अल्पसंख्यक समुदाय के युवकों लगा है, जिसके बाद पुलिस आरोपी और उसके माता पिता ज गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि युवक ने किशोरी को पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया और इसके बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। दर्ज रिपोर्ट में बताया गया है कि 15 वर्षीय एक किशोरी को पहले से ही शादीशुदा शहजाद (26) नाम के युवक ने उसे अपने प्रेम जाल में फंसाया और उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया। जब किशोरी गर्भवती हो गई तो शहजाद और उसके परिवार वालों ने उसका गर्भपात कराने की कोशिश की लेकिन जब लड़की ने इसका विरोध किया तो उसे जान से मारने की धमकी भी दी गई।

पीड़ित लड़की के परिवार वालों का कहना है कि 6 जुलाई को लड़की पर दबाव बनाने के लिए उसे घर पर बुलाया और शादी करने के बहाने उसे बंधक बना लिया। लड़की पक्ष का आरोप है कि शहजाद के भाई बिलाल और फरमान ने भी किशोरी के साथ 8 जुलाई को दुष्कर्म किया। लड़की जब 10 जुलाई को अपने घर पहुंची तो वो काफी डरी हुई थी। उसकी तबीयत खराब थी, जिसके बाद परिवार वालों ने उसे दवा दी।

17 जुलाई को अचानक किशोरी की ज्यादा बिगड़ गई, जिसके बाद जब उसे डॉक्टर के पास चलने के लिए परिवार वालों ने दबाव बनाया तो किशोरी ने रोते हुए आप बीती सुनाई। उसने यह भी बताया कि आरोपी युवक ने शादी के बहाने से उसका एक वर्ष पहले ही धर्म परिवर्तन करा दिया था और जबरन गाय का मांस खिलाया गया। कोतवाली प्रभारी एन. एस. सिरोही ने बताया है कि 7 नामजद आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों के मां गुलफ्शां और पिता हारुन को रविवार सुबह गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं अन्य आरोपी फरार हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here