7

यूपी के कानपुर में एक शख्स ने शादी के दिन(Wedding day) धोखा देकर फरार हो गया। जिसके बाल लड़की के घरवालों की इज्जत बचाने के लिए एक रिश्तेदार ने अपने भाई से युवती की शादी करा दी। यह मामला कानपुर देहात के पालेहपुर गांव का है। जहां एक दूल्हा अपनी शादी के दिन गायब हो गया था।

गांव में श्री राम प्रजापति के घर शादी की तैयारियों को लेकर जोरों से धूमधाम मची हुई थी। शादी की तय तारीख के दिन शाम को बेटी शशि की बारात आनी थी। रायपुर गांव से आने वाले बारातियों के स्वागत सत्कार की जोरों से तैयारी में लड़की के परिजन जुटे हैं। दूसरी तरफ दूल्हे के पिता धर्मपाल अपने बेटी की शादी को लेकर काफी खुश थे। बारात ले जाने की तैयारी में लगे हुए थे। जहां तक की बारात में स्मार्ट दिखने के लिए धर्मपाल अपने बेटे के संग सैलून गए हुए थे, लेकिन उनके बेटे के दिमागी खुराफात के बारे में उन्हें जरा भी भनक नहीं थी।

थाने की दर्ज की शिकायत

जब धर्मपाल अपने बालों को कलर करवा रहे थे उसी समय सलून में उनका बेटा अचानक से गायब हो गया। काफी देर होने के बाद भी वह अपने घर वापस नहीं आया इस खबर को लेकर घर में हाहाकार मच गया। बारात निकलने का समय हो चुका था। लेकिन दूल्हे का कोई अता पता नहीं था। दुल्हन शादी के जोड़े में तैयार अपने दूल्हे का इंतजार कर रही थी। हालांकि बेटी के गायब होने पर पिता ने थाने में शिकायत भी दर्ज करवा दी थी।

रात के 11 बजे तक भी दूल्हे का कोई अता पता नहीं था। जिस पर दुल्हन के परिजन भी परेशान होने लगे थे। तब परिजनों की हालत शादी तय कराने वाले शख्स से देखी ना गई तो उसने अपने भाई से शादी करवाने की बात कही। जिसे दुल्हन के घरवालों ने मान लिया। दुल्हन की हामी से दोनों शादी के बंधन में बंधे।

हैरानी की बात तो यह थी कि ठीक शादी के 2 दिन बाद दूल्हा धर्मेंद्र अपने घर वापस आ गया। उसने अपने माता-पिता को झूठी बात बताई कि उसे किसी ने इंजेक्शन देकर अगवा कर लिया था। जब घर वालों ने कढ़ाई की तो मामला कुछ और ही सामने आया। उसने बताया कि शादी से 2 दिन पहले वह गांव में अपनी प्रेमिका को लेकर भाग गया था। घरवालों द्वारा पकड़े जाने पर वह दूसरी जगह शादी करने को राजी नहीं था। घरवाले उसकी प्रेमिका से शादी के लिए मान नहीं रहे थे। इसलिए शादी के दिन मौका पाकर वह वहां से फरार हो गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here