समाजवादी पार्टी से अलग होकर नवगठित प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया ने अपने गठन के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शक्ति प्रर्दशन किया। बता दें कि लखनऊ में शिवपाल यादव की जन आक्रोश रैली में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी पहुंचे जिससे शिवपाल सिंह यादव के कार्यकर्ताओं मे जोश भर गया लेकिन यह जोश तुरंत ही ठंडा हो गया।

मुलायम सिंह ने जन आक्रोश रैली को संबोधित करते हुए शिवपाल सिंह यादव के कार्यकर्ताओं को कुछ ऐसी बात और हिदायत दे डाली जिससे इन कार्यकर्ताओं का सारा जोश तुरंत खत्म हो गया।

शिवपाल सिंह यादव की रैली को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह ने शिवपाल की पार्टी का नाम दो बार समाजवादी पार्टी बोल दिया। समाजवादी पार्टी कहने पर कार्यकर्ताओं ने जब नेताजी को रोका तो वह भड़क गए और कहा कि नहीं सुनना है तो भागो यहां से। बाद में मुलायम ने कहा कि आपने जो प्रगतिशील पार्टी बनाई है, उसे शुभकामनाएं. जो हमारी बात नहीं सुनना चाहते वो कभी नेता नहीं हो सकते। अगर आप नहीं सुनना चाहते तो एक ही बात कह कर जा रहूं कि शिवपाल भाई है तो हम उन्हें बधाई देंगे।
मुलायम सिंह ने शिवपाल सिंह यादव को तो अपने पूरे भाषण के दौरान सम्मान दिया छोटे भाई कहकर लेकिन शिवपाल सिंह की पार्टी के कार्यकर्ताओं पर भड़कते रहे पूरे भाषण के दौरान।

मुलायम सिंह ने अखिलेश यादव पर भी इशारा करते हुए कहा कि पार्टी की बागडोर नौजवानों के हाथ में ही आने वाली है। अगर सब आपकी तारीफ करेंगे तो आप भी मुलायम सिंह बनेंगे। हम आपके लिए तो कुछ नहीं हैं, अगर हम आपके लिए कुछ होते तो आप धैर्य से मेरी बात सुनते। अपने सारे उम्मीदवारों को जिताना है और समाजवादी पार्टी की सरकार बनाना है। शिवपाल को मजबूत करना है, ये तो मेरा भाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here