4

भारत में कोरोना महामारी की दूसरी लहर सुनामी का रूप ले चुकी है। देश में पिछले दो दिनों से चार लाख से ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच सामने आ रहा है कि लोग अभी भी कोरोना को हल्के में ले रहे हैं, जिसकी वजह से उनके साथ-साथ अन्य लोगों को भी इसका खामियाजा उठाना पड़ रहा है। मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले के लुहरगुवा गांव में रहने वाला युवक कोरोना संक्रमित था। उसने इस बात को करीब 8 दिन तक छुपाया। वो आराम से गांव में घूमता रहा। इस दौरान वो एक शादी में भी शामिल हुआ, जिसके बाद गांव में 40 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए। इनमे से कई की हालत अब गंभीर बताई जा रही है।

गांव में 40 लोगों के संक्रमित होने की सूचना जैसे ही जिला प्रशासन को मिली तो पूरे गांव को सील कर दिया गया और गांव के बाहर पुलिस के जवान तैनात कर दिए। गांव में किसी के आने और गांव से बाहर जाने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। गांव में सभी से बोल दिया गया है कि ‘लोग अपने घरों के अंदर रहें और बाहर बिल्कुल न निकलें। गांव के घर घर जाकर डॉक्टरों की टीम लोगों के स्वास्थ्य की जांच कर रही है और डॉक्टर उन्हें जरुरी सलाह और दवा दे रहें हैं। वहीं गांव में महामारी फ़ैलाने वाले युवक और गुपचुप शादी कराने वाले तीन लोगों खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

लुहरगुवा गांव में रहने युवक ने 27 अप्रैल को कोरोना की जांच कराई थी, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। युवक ने इसके बाद भी खुद को न तो क्वारंटाइन किया और न ही किसी को इस बारे में बताया। वहीं इस मामले स्वास्थ विभाग की लापरवाही सामने आ रही है। विभाग द्वारा संक्रमित युवक के घर बाहर किसी भी तरह की सूचना चस्पा नहीं गई और ही उसका घर सील हुआ। इस सब का फायदा उठाकर युवक बिना मास्क पूरे गांव में घूमता रहा। इस दौरान वो गांव में 29 अप्रैल को हुई शादी में शामिल हुआ। जहां वो जमकर नचा और लोगों के साथ फोटो खिचाई। संक्रमित युवक ने लोगों को भोजन भी परोसता रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here