9
ज्योतिष शास्त्र में राशियों और ग्रहो का बड़ा महत्व है | किसी भी व्यक्ति का नामकरण उसके जन्म के ग्रह और नक्षत्रो के अनुसार किया जाता है | इन ग्रहो व नक्षत्रो के अनुसार ही उनके नाम का अक्षर सुझाया जाता है और ये नाम ही उनकी राशि निर्धारित करता है | किसी भी व्यक्ति के स्वभाव, व्यवहार, क्षमता और भविष्य के बारे में उसकी राशि से पता लगाया जा सकता है | ज्योतिष में इसे लेकर कुछ ऐसी राशियों के बारे में बताया गया है, जो बेहद ही शक्तिशाली होती है | इनका भाग्य अन्य राशियों से अधिक प्रबल होता है, तो आइये जानते है वे कौनसी राशियां है |
मेष
 
 
मेष राशि का स्वामी मंगल ग्रह है | मंगल ग्रह को ज्योतिष में ग्रहो का सेनापति बताया गया है, ऐसे में मेष राशि पर मंगल का प्रभाव देखने को मिलता है | इस राशि के जातको में नेतृत्व की गजब की क्षमता होती है | अपनी मेहनत, मजबूती और कार्यक्षमता के बल पर ये अपने जीवन में सफल होते है | इनकी राशि का स्वामी मंगल इनकी हर परिस्थिति में सहायता करता है |
वृश्चिक
 
 
इस राशि का स्वामी भी मंगल ग्रह ही है | मंगल के प्रभाव के चलते इस राशि के जातक निडर और साहसी होते है | कामकाज में जोखिम उठाने और निडरता की भावना ही इनकी सफलता की वजह बनती है | इन्हे कार्यो को योजनाबद्ध तरीके से करना पसंद होता है | इनकी ईमानदारी इनकी सबसे बड़ी खासियत होती है |
मकर
 
 
मकर राशि के स्वामी शनिदेव है | शनिदेव के प्रभाव के चलते इस राशि के जातक आत्मविश्वास से भरे रहते है | इस राशि के जातको पर सदा शनिदेव की कृपा बनी रहती है | इस राशि के जातको में मेष राशि के जातको के सामान ही नेतृत्व की शानदार क्षमता होती है | इनकी मेहनत और लगन ही इनको जीवन में सफलता दिलाती है |
कुम्भ
 
 
कुम्भ राशि के स्वामी शनिदेव है | ज्योतिष में शनिदेव को कर्मफल दाता बताया गया है | इस राशि के जातको में ईमानदारी देखने को मिलती है, जिसकी वजह से इन पर शनिदेव का आशीर्वाद बना रहता है | तेज दिमाग और योजना के बल पर ही ये सफल होते है | शनिदेव की कृपा से इस राशि के जातक भाग्यशाली होते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here