कोरोना पर दो भविष्यवाणियां
दरअसल, कोरोना वायरस पर दो भविष्यवाणी हुई हैं. एक सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड डिजाइन की है और दूसरी जो खुद भारत ने ही की है. दोनों भविष्यवाणियों में कोरोना को लेकर लगभग एक जैसी बातें कही गई हैं. यानि, देश के लिए मई और जून का महीना खुशखबरी लेकर आने वाला है. बताते हैं कि, आखिर दोनों भविष्यवाणियों में क्या-क्या कहा गया है.

पहली सिंगापुर की भविष्यवाणी
सिंगापुर यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी एंड डिजाइन (SUTD) की भविष्यवाणी की मानें तो, 21 मई तक कोरोना 97 फीसदी खत्म हो सकता है. मगर भारत में कोरोना पूरी तरह 18 जून तक खत्म होगा. दरअसल, यूनिवर्सिटी ने अपने शोध में वायरस की क्षमता का विश्लेषण किया है. जिसमें जांचा गया कि, वायरस की फैलने की रफ्तार किस तरह की है. यह भविष्यवाणी यूनिवर्सिटी ने कोरोना मरीजों के आधार पर की है. इस शोध में एक दावा यह भी किया गया है कि, कोरोना 18 जून को सिर्फ भारत से खत्म होगा मगर पूरी दुनिया 8 दिसंबर को कोरोना मुक्त हो जाएगी. इस भविष्यवाणी को इसलिए भी सच माना जा रहा है क्योंकि, इससे पहले जब इटली और स्पेन के लिए जो अंदेशा जताया गया था वह काफी हद तक सही साबित हुआ. पर अब देखना होगा कि, क्या वाकई भारत 18 जून तक कोरोना मुक्त हो जाएगा.

भारत सरकार की भविष्यवाणी
दूसरी भविष्यवाणी वैज्ञानिकों की नहीं बल्कि भारत सरकार की है. भारत सरकार का कहना है कि, लॉकडाउन का असर दिखने लगा है. ऐसे में अगर आकड़ों को देखें तो, जब लॉकडाउन का ऐलान हुआ तो पहले सप्ताह (24-30 मार्च) के बीच कोरोना केस 5.2 दिनों में दोगुने हो रहे थे. दूसरे हफ्ते में (31 मार्च-6 अप्रैल) में केसों में रफ्तार देखी गई मगर तीसरा हफ्ता (7-13 अप्रैल) आते ही ग्राफ गिरने लगा और चौथे हफ्ते में तो केसों की बढ़ने की रफ्तार काफी 8.6 दिन हो गई. इसके बाद जब 21 अप्रैल के आकड़ों को देखा तो 10 दिनों में कोरोना केस दोगुने हो रहे हैं. जो वाकई राहत की खबर है.

16 मई को किलर वायरस का अंत
लगातार देश में कोरोना मामलों का आकंड़ा गिरता जा रहा है. आकंड़ों को देखने के बाद कहा जा रहा है कि, 30 अप्रैल तक महामारी अपने चरम तक पहुंच जाएगी और फिर कोरोना केस काफी कम हो जाएंगे. इस तरह मई की 16 तारीख तक कोरोना न्यूनतम स्तर पर पहुंच जाएगा. 16 तारीख इसलिए क्योंकि, दिल्ली सरकार ने बढ़ते खतरे को देखते हुए अपने राज्य में 16 मई तक लॉकडाउन करने की बात कही है. ऐसे में कोरोना मामले कम होते जाएंगे और जब जून का महीना शुरू होगा तो वह भारत के लिए काफी शानदार होगा. क्योंकि, आकंड़ें कहते हैं कि, जून तक भारत कोरोना मुक्त हो जाएगा. पर यह सच साबित होगा या नहीं वो आने वाले वक्त में पता चलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here