रामायण में सीता माता का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस दीपिका चिखलिया (deepika chikhalia) ने अपना दर्द बयां किया है और चुप्पी तोड़ते हुए कई ऐसी बातें कहीं है जिनसे आप हैरान हो सकते हैं.

रामायण की सीता का छलका दर्द
दीपिका चिखलिया ने रामायण के वर्ल्ड रिकॉर्ड (ramayan world record) के बारे में बात करते हुए अपना दर्द बयां किया और कहा कि, उन्हें फीस के साथ-साथ इस किरदार के लिए उतना सम्मान नहीं मिला. हालांकि, दर्शकों ने उन्हें ढेर सारा प्यार दिया पर उस वक्त की सरकार ने तब बेरुखी दिखाई और कभी कोई नेशनल अवॉर्ड या कोई पद्म सम्मान नहीं मिला.

आज भी शर्म आती है
एक्ट्रेस ने अपने दर्द को बयां करते हुए आगे कहा कि, उन्हें उस वक्त भी रामायण में सीता का किरदार करने पर मिलने वाली सैलरी को किसी से बताने में शर्म आती थी और आज भी शर्म आती है. क्योंकि, काम करने का मेहनताना बहुत ही मामूली था. इसके आगे एक्ट्रेस ने कहा कि, उन्होंने या किसी दूसरे कलाकार ने कभी पैसों के लिए कोई काम ऐसा नहीं किया जिससे हमारे दशर्कों के दिलों को ठेस पहुंचे.

पद्म सम्मान की मांग
हम अवॉर्ड नहीं चाहते पर हम हमारी बातों को रख रहे हैं. क्योंकि, मोदी सरकार ने एक बार फिर दुनिया के सामने रामायण को सामने रखा है और दर्शकों ने भी बहुत प्यार दिया है. अगर अब आगे पीएम नरेंद्र मोदी को लगे कि, हमने और हमारी टीम ने संस्कृति के लिए कुछ किया है तो वो हमें पद्म सम्मानों से सम्मानित करने में एक बार सोच सकते हैं. इससे हमारा हौंसला अफजाई होगा. पर हम किसी भी अवॉर्ड की मांग नहीं कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here