अधूरी नींद से बढ़ती हैं कई बीमारियां -यूं तो नींद ना आने की कई कारण हो सकते हैं। लेकिन जब नींद ना आने से शरीर में कई दिक्कतें बढ़ सकती हैं। अल्कोहल लेना, धूम्रपान करना सोने का समय निर्धारित ना होना, देर रात तक इलेक्ट्रॉनिक गैजेट का इस्तेमाल भी नींद को प्रभावित करते हैं। ऐसे में इनसे बचे ताकि अन्य बीमारियों का खतरा कम किया जा सके।

ये भी जरूर देखें :

स्लीप एपनिया के दौरान रक्त के ऑक्सीजन स्तर में अचानक कमी आना और ब्लड प्रेशर बढ़ना शरीर की समस्याएं पैदा हो जाती है। इस से ग्रस्त लोगों में उच्च रक्तचाप की समस्या होती है। जिससे ह्रदय संबंधी रोग होने की आशंका बढ़ जाती है।

यह रोग इतना गंभीर होता है कि दिल का दौरा पड़ना, दिल की धड़कन रुक जाना जोखिम बढ़ जाता है। अवसाद या डिप्रेशन का एक बड़ा कारण अधूरी नींद या अनिद्रा भी हैं। सही समय पर ध्यान ना देने के कारण उनमें चिड़चिड़ाहट भूख ना लगना, अकारण गुस्सा आना है और नींद ना आना जैसी समस्याएं भी जन्म लेने लगती हैं।

इससे कई अन्य बीमारियां भी शरीर में घर करने लगती हैं। किसी लंबी बीमारी से पीड़ित होने पर भी नींद में पैदा होने लगती है। गठिया और जोड़ों के कई तरह के दर्द में रात के समय ही दर्द ज्यादा होने लगता है। साइनस आदि सांसो से जुड़ी समस्याएं भी नींद आने में परेशानी होने लगती है।

शरीर मैं ऑक्सीजन की कमी होने पर होने वाली घबराहट और बेचैनी भी नींद की गुणवत्ता पर असर डालते हैं। ऐसे में जरूरी है कि अपनी इन दिक्कतों को डॉक्टर से साझा करें ताकि अनिद्रा से होने वाली समस्याओं से बचा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here