एक चार्ट के माध्यम से मैं आपको ये समझाऊंगा। कोरोना संकट की वजह से जहां उत्तर प्रदेश में कड़ाई से लॉक डाउन का पालन कराया गया वहीं पाकिस्तान ऐसा नहीं हो सका, जिसका नतीजा है कि, यहां कोरोना संक्रमण और उससे होने वाली मौतों की दर कहीं ज्यादा है, जबकि उत्तर प्रदेश में यह कम है। वहीं दूसरे ट्वीट में फहद ने लिखा कि, उत्तर प्रदेश की जनसंख्या जहां 22.50 करोड़ के लगभग है वहीं पाकिस्तान की जनसंख्या 20 करोड़ से बस थोड़ी सी ज्यादा है। दोनों की ही प्रोफाइल एक जैसी है और साक्षरता दर भी करीब बराबर है।

इसके आलावा पाकिस्तान में यूपी के मुकाबले प्रति किलोमीटर जनसंख्या घनत्व भी कम है और प्रति व्यक्ति आय ज्यादा है। लेकिन उसके बाद भी उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण से कम मौतें हुई हैं। गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश में अभी तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 10,536 है, जबकि पाकिस्तान में 1,03,671 लोग कोरोना से संक्रमित हैं। वहीं इस वायरस से पाकिस्तान में मरने वालों की संख्या 2,067 है, जबकि यूपी में अब तक संक्रमण की वजह से 275 लोगों की जान जा चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here