कामरान को रविवार के दिन मुंबई से गिरफ्तार किया गया और स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जिसके बाद उसे ट्रांजिट रिमांड में भेजते हुए यूपी एसटीएफ के हवाले कर दिया गया। कामरान की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस को धमकी भरी कॉल आई है। महाराष्ट्र एटीएस ने बताया कि धमकी भरी यह कॉल लखनऊ पुलिस की स्पेशल मीडिया डेस्क को आई है। इस कॉल पर कहा गया, ‘जिसे गिरफ्तार किया है, उसे छोड़ दो वरना अंजाम भुगतना पड़ेगा।’

इससे पहले यूपी पुलिस के 112 मुख्यालय में गुरुवार देर रात लगभग साढ़े बारह एक वॉट्सऐप मैसेज आया था। यह मैसेज यहां के सोशल मीडिया डेस्क के नंबर 7570000100 पर आया था। मेसेज में लिखा था, ‘सीएम योगी को मैं बम से मारने वाला हूं। (एक खास समुदाय का नाम लिखा) की जान का दुश्मन है वो।’ यह मेसेज आने के बाद उच्चाधिकारियों को इसी सूचना दी गई। इसके बाद गोमती नगर थाने में धारा 505 (1) बी, 506 और 507 के तहत केस दर्ज किया गया था।

दूसरी धमकी मिलते ही महाराष्ट्र एटीएस को सूचना दी गई। एटीएस की नासिक यूनिट ने 20 साल के एक युवक इस धमकी भरे कॉल के लिए नासिक के भद्रकाली इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस कामरान से उसके संबंध के बारे में जांच कर रही है। यूपी पुलिस के अलावा इस मामले में मुंबई और महाराष्ट्र की पुलिस भी पूरी तरह से जुटी हुई है और धमकी देने की पूरी सच्चाई तलाशने की कोशिश की जा रही है।

मालूम हो कि मुंबई एटीएस द्वारा गिरफ्तार सीएम योगी को जान से मारने की धमकी देने वाले शख्स की पहचान कामरान के रूप में की गई है। वह मुंबई का ही रहने वाला है। झावेरी बाजार में सिक्यॉरिटी गॉर्ड की नौकरी करने वाले कामरान का साल 2017 में स्पाइन टीबी का ऑपरेशन हुआ था, जिसके बाद उसने नौकरी छोड़ दी थी और फिलहाल, कोई काम नहीं कर रहा है। कामरान के परिवार में मां, बहन और एक भाई हैं। बहरहाल कामरान अब पुलिस रिमांड पर है चूंकि किसी मुख्यमंत्री को इस तरह की धमकी देना बेहद ही निंदनीय है, STF का कहना है कि इस पूरे मामले की तह तक जाना अभी बाकी है।

sources :- upvartanews.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here