11
सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड करने के बाद उनके सुसाइड पर सवाल उठाये जा रहे थे | ऐसे में मुंबई पुलिस द्वारा की जा रही कार्यवाही पर भी सुशांत के फैंस और कुछ बड़ी हस्तियों ने सवाल उठाये | इसके बाद बिहार पुलिस भी सुशांत के केस की जांच में जुट गयी | इससे मामला और उलझ गया, ऐसे में अब सुशांत का केस CBI के अपने हाथो में ले लिया है |
CBI के हाथो में केस के आते ही, CBI ने सुशांत के मामले की जाँच शुरू कर दी है | सीबीआई ने 7 लोगो के खिलाफ FIR दर्ज की है
ये है वो 7 लोग
 
CBI की FIR में मुख्य आरोपी रिया है | इसके अलावा रिया का भाई शोविक चक्रवर्ती, रिया के पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती, रिया की माँ संध्या चक्रवर्ती, सुशांत का हाउस मैनेजर सैमुएल मिरांडा और छठा आरोपी सुशांत की पूर्व सेक्रेटरी श्रुति मोदी | हालाँकि अभी तक सातवे आरोपी के नाम का कोई खुलासा नहीं हुआ है |
जानकारी के लिए बता दे बिहार सरकार ने केंद्र सरकार से सुशांत के मामले की जाँच CBI द्वारा करवाने की सिफारिश की थी | जिसके बाद केंद्र सरकार ने CBI जाँच को मंजूरी दे दी |
रिपोर्ट के अनुसार CBI ने उक्त आरोपियों पर इन धाराओं पर मामला दर्ज किया है |
धारा 306 – हत्या के लिए उकसाना
सजा – अधिकतम 10 साल जेल ( गैर जमानती )
धारा 420 – धोखाधड़ी
सजा – अधिकतम 7 साल जेल ( गैर जमानती )
धारा 380 – चोरी
सजा – अधिकतम 7 साल जेल ( गैर जमानती )
धारा 506 – आपराधिक धमकी
सजा – अधिकतम 7 साल जेल ( जमानती )
धारा 406 – विश्वास में दी गयी सम्पति का गलत इस्तेमाल / वापस ना देना
सजा – अधिकतम 3 साल जेल ( गैर जमानती )
धारा 341 – किसी व्यक्ति को गलत तरीको से रोकना
सजा – अधिकतम 1 माह जेल ( जमानती )
धारा 342 – किसी को गलत तरीके से प्रतिबंधित करना
सजा – अधिकतम 1 साल जेल ( गैर जमानती )
CBI द्वारा दायर की गयी धाराओं को देखकर साफ़ है कि CBI मामले को लेकर गंभीर है | CBI की इस जांच के लिए SIT का गठन किया गया है | इस SIT के प्रमुख CBI के जॉइंट डायरेक्टर मनोज शशिधर है | SIT की जांच का जिम्मा DIG गगनदीप गंभीर संभालेगी |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here